Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

ओवरड्राइवः जीप कंपस-टाटा हेक्सा, कौन है बेस्ट!

प्रकाशित Sat, 12, 2017 पर 15:55  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

देश में एयसूवी सेगमेंट तेजी से ग्रो कर रहा है चाहे वो एंट्री एयसूवी हो या फिर लग्जरी एयसूवी सेगमेंट। लेकिन जीप ने 15 लाख रुपए में कंपस उतार करके मिड एयसूवी सेगमेंट में पहले से मौजूद टाटा हेक्सा और महिंद्रा XUV5OO को तगड़ झटका दे दिया है। या यूं कहें कि इस सेगमेंट के खरीदारों को एक नया ऑप्शन। ऐसे में आप भी 15 से 20 लाख के बजट में इन तीनों एयसूवी में कोई खरीदने की सोच रहें तो आपके लिए बेस्ट ऑप्शन क्या है ? देखिए इस रिपोर्ट में।


मिड एयसूवीसेगमेंट में कई एयसूवी के ऑप्शन हैं लेकिन हम आपके लिए लेकर आएं है तीन जो सबसे पॉपुलर एयसूवी। पहली जीप कंपस, जो पुरी दुनियां में अपनी ऑफरोड परफॉर्मेंस के लिए जानी जाती है। जिसने लॉन्च होते ही मिड एयसूवी सेगमेंट में प्राइस वार छेड़ दिया है।
दूसरी एयसूवी है टाटा की हेक्सा जो पिछले साल लॉन्च हुई थी और अपनी बेस्ट ऑफरोड परफॉर्मेंस के दाम पर लोगों का दिल जीत रही है।
तीसरी एयसूवी है महिंद्रा XUV5OO जिसके लॉन्च होने के बाद इसके खरीदार चाहने वाले इतने हुए थे की कंपनी को कुछ दिन के लिए बुकिंग बंद करनी पड़ी थी। और अभी तक अपनी परफॉर्मेंस और फीचर्स के दाम पर इस सेगमेंट की मार्केट लीडर बनी हुई है।


लुक की बात करें तो इन तीनों ही एयसूवी की स्टाइलिंग अलग-अलग है। कंपस की बात करें तो जीप की ग्लोबल डिजाइन जिसपर ग्रांड चेरोकी को डिजाइन किया गया है उसी बेस पर इसे भी बनाया गया है।
इसी वजह से कॉम्पैक्ट एयसूवी होते हुए भी लुक के लिहाज से ये बड़ी एयसूवी को कड़ी टक्कर दे रही है। जबकि कंपास की लंबाई 4398 एमएम है और इसमें 5 सीट के ही ऑप्शन है। हेडलैंप और ग्रिल को खूबसूरती के साथ डिजाइन किया गया है। लेकिन ये प्रोजेक्टर हेडलैंप  हैं जबकि टेललैंप में एलईडी इस्तेमाल किया गया है।


टाटा हेक्सा एक क्रॉओवर कार है जिसे एयसूवी और सेडान के फीचर्स को मिला कर बनाया गया है। और इसे जिस प्लेटफॉर्म पर तैयार किया गया है वो आरिया का है जो फ्लॉप रही है। लेकिन इसे शार्प और आकर्षक लुक देने के लिए हेक्सा पर काफी काम किया गया है। डेटाइन रनिंग लाइट के साथ प्रोजेक्टर हेडलैंप दिया गया है। साथ ही टेललैंप में कंपस की तरह एलईडी इस्तेमाल किया गया है। टाटा हेक्सा की लंबाई 4788 मिलीमीटर है। यानी कंपस से थोड़ी साइज के मामले में ये लंबी है। इसी वजह से इसमें 7 सीट का ऑप्शन मिलता है।


महिंद्रा XUV5OO को कंपनी ने नए प्लेटफॉर्म पर बनाया गया था। इसके फ्रंट लुक को चिता से प्रेरित स्टाइल थीम पर डिजाइन किया गया है। इसी वजह से ये थोड़ी बोल्ड और मस्कुलर दिखती है। डे रनिंग लाइट और कॉर्नरिंग लाइट के साथ प्रोजक्टर हेजलैंप है। साइड के लुक को आकर्षक बनाने के लिए फ्रंट विंडो से लेकर रियर विंडो तक क्रोम लाइन दिए गए हैं। इसकी लंबाई 4585 मिलीमीटर है लेकिन 7 सीट का ऑप्शन।


बाहर की लुक्स और स्टाइलिंग के बाद अब बात आती है कि इनके इंटीरियर कैसे हैं। तो इन तीनों एयसूवी के इंटीरियर में करीब-करीब एक जैसे फीचर है। सभी कारों के इंटीरियर को डुअल टोन कलर थीम पर डिजाइन किया गया है। किसी में क्रोम का ज्यादा इस्तेमाल है तो किसी में थोड़ा कम। लेकिन जीप कंपस का इंटीरियर थोड़ा प्रीमियम फील देता है। सीट लेदर के बने हैं। स्टेयरिंग व्हील को भी लेदररैप किया गया है। म्यूजिक के चाहने वालों के लिए 6 स्पीकर, ब्लूटूथ ऑडियो स्ट्रीमिंग जैसे फीचर्स दिए गए हैं। इसमें 5 सीट के ही ऑप्शन है जबकि बाकी एयसूवी में 7 सीट का ऑप्शन है। लेकिन बूट स्पेस 438 लीटर मिलता है। सेफ्टी इसमें सेफ्टी का पूरा ख्याल रखा गया है। 50 से ज्यादा पैसिव और एक्टिव सेफ्टी फीचर्स दिए गये हैं। 6 एयरबैग, एबीएस, ईएससी जैसे फीचर्स दिए गए हैं।


टाटा हेक्सा के इंटीरियर्स को भी डुअल टोन पर डिजाइन किया गया है। लेदर फ़ील असबाब गाड़ी के इंटीरियर को अप मार्केट लुक देता है। कनेक्टिविटी पर टाटा मोटर्स ने ख़ासा काम किया है, यंग कस्टमर्स को अपील करने के लिए 5 इंच टच स्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम है। जिसमें कई मॉर्डन फीचर्स हैं। सेफ्टी को कंपनी ने काफी अहमियत दिया है। इसी वजह से 6 एयर बैग, हिल होल्ड कंट्रोल, हिल डिस्सेंट कंट्रोल और ट्रैक्शन कंट्रोल भी हैं। लेकिन टाटा हेक्सा में बूट स्पेस 128 लीटर ही मिलता है।


महिंद्रा XUV5OO के इंटीरियर्स भी डुअल टोन में है। लेकिन इसमें कुछ हाई टेक फीचर्स दिया गया है। जैसे एंड्रॉइड ऑटो, कनेक्टेड एप्स, इकोसेंस और इमरजेंसी कॉल जैसे फीचर्स। इसके टॉप वेरिेएंट के ड्राइव सीट को 6 तरह से एडजस्ट कर सकते हैं। लेकिन पैशेंजर सीट नॉर्मल है। लंबाई में कम और 7 सीट होने की वजह से इसमें 93 लीटर ही बूट स्पेस मिलता है, जो काफी कम है। सेफ्टी के लिहाज से XUV5OO में 6 एयरबैग, एबीएस, ईएससी  और हिलहोल्ड जैसे फीचर्स दिए गये हैं।


इंजन की बात करें तो जीप कंपस में पेट्रोल के साथ डीजल इंजन का ऑप्शन है। लेकिन हम बात करेंगे इसके डीजल वरिएंट के बार में। कंपस डीजल वेरिएंट में 2 लीटर का मल्टी जेट टर्बो इंजन है जो 170बीएचपी पावर जेनरेट करता है। और इसमें टू व्हील ड्राइव के साथ फोर  व्हील ड्राइव का भी ऑप्शन है। जो 6 स्पीड मैन्युअल गियर के सहारे काम करता है।


टाटा हेक्सा में 2.2 लीटर का डीजल इंजन है जो 156बीएचपी पावर जेनरेट करता है। इसमें टू व्हील ड्राइव के साथ फोर व्हील ड्राइव का भी ऑप्शन है। इसमें मैन्युअल और ऑटोमैटिक गियर के ऑप्शन हैं।
महिंद्राXUV5OO भी 2.2 लीटर का डीजल इंजन है जो 140बीएचपी पावर देता है। और इसमें भी फोर व्हील और ऑटोमैटिक गियर का ऑप्शन है. इस तरह से पावर के लिहाज से जीप कंपस बाजी मार लेती है। ये तो इंजन और पावर की बात हो गई लेकिन किस एसयूवी में ऑफरोड फीचर्स है चलिए ये भी जान लेते हैं।


ऑफरोड फीचर्स के लिहाज से जीप कंपस में फोर व्हील ड्राइव मोड के साथ 4 अलग-अलग रास्तों के लिए मोड दिए गये हैं। जो टाटा हेक्सा और महिंद्रा XUV5OO से काफी बेहतर हैं। लेकिन ग्राउंड क्लियरेंस के मामले में ये थोड़ी पिछे रह जाती है टाटा हेक्सा और महिंद्रा XUV500 के मुकाबले।


इस सेगमेंट के खरीदार ये भी जानना चाहते हैं कि उनकी गाड़ी कितना देती है. यानी माइलेज कितनी है। माइलेज के लिहाज से देखें तो जीप कंपस बाजी मार लेती है। क्योंकि कंपनी का  कहना है कि ये टेस्ट कंडिशन में 17 किलोमीटर की माइलेज देती है।


भारतीय कार बाजार काफी कीमत संवेदनशील बाजार है ऐसे में जान लेते हैं कि कीमत के लिहाज से कौन सबसे आगे है।


कीमत के लिहाज से देखें तो जीप कंपस थोड़ी महंगी है जबकि टाटा हेक्स थोड़ी सस्ती है लेकिन इसमें उतने फीचर्स भी नहीं है। इस तरह से देखें तो कीमत, फीचर्स और आफ्टर सेल सर्विस के लिहाज से महिंद्रा XUV5OO बेस्ट ऑप्शन है।


कंपनी हेक्सा में 4 व्हील ड्राइव का भी ऑप्शन दे रही है लेकिन ये फीचर इसके मैन्युअल गियर वाली हेक्सा में ही है।


वहीं टाटा हैक्सा में कुल 6 एयरबैग मिलेंगे। इनमें ड्यूल फ्रंट, फ्रंट साइड और कर्टन एयरबैग शामिल होंगे। इसके अलावा हैक्सा में एबीएस के साथ ईबीडी और कॉर्नर स्टेबिलिटी कंट्रोल जैसे फीचर्स भी मिलेंगे।


जीप कंपस को इसकी ही फैमली की ग्रांड चेरोकी के स्टाइल पर डिजाइन किया गया है। इसी वजह से लुक के लिहाज से बहुत कुछ चेरोकी से ये मिलती है। साइज के हिसाब से कंपस जीप की सबसे छोटी एसयूवी है। कंपस एक 5 सीटर एसयूवी  है। ये काफी स्पोर्टी और मस्कुलर दिखती है। फ्रंट में हेडलैंप काफी खूबसूरत हैं। लेकिन ये प्रोजेक्टर हेडलैंप ही हैं, एलईडी होते तो तो लुक और बेहतर होती। टेललैंप लैंड के हैं जो गाड़ी के डिजाइन में खूबसूरती से फिट होते हैं।


इसी ग्लोबल डिजाइन की वजह से ये कॉम्पैक्ट एसयूवी होते हुए भी लुक के लिहाज से बाड़ी एसयूवी  को कड़ी टक्कर दे रही है। जबकि कंपास की लंबाई 4398 एमएम है। इंटीरियर में ज्यादा स्पेस के साथ बूट रखने के लिए ज्यादा जगह मिले इसके लिए इसका व्हीलबेस की लंबाई 2636 मिलीमीटर है। लेकिन ग्राउंड क्लियरेंस कम है 178 मिलीमीटर। जबकि एक एसयूवी की ग्राउंड क्लियरेंस करीब 200 मिलीमीटर होती है। बेहतर कंफर्ट के लिए इसके सीट को एस कॉन्सेप्ट पर डिजाइन किया गया है। और इसे बनाने से पहले 60 बार से भी ज्यादा टेस्ट किए गए हैं


इन तीनों एसयूवी की माइलेज की बात करें तो टेस्ट कंडिशन में जीप कंपस डीजल वेरिएंट की माइलेज 17 किलोमीटर है जबकि इसका फोर बाई फोर वेरिेंट 16 किलोमीटर एक लीटर डीजल में सफर कर लेती है।इसमें प्रॉजेक्टर हेडलैंप्स और डेटाइम रनिंग लाइट दी गई है। वहीं इसमें एलईडी टेल लाइट दी गई हैं। एंटरटेनमेंट के लिए इसमें 5 इंच की टच डिस्प्ले दी गई है। इसमें ऑटो एसी कंट्रोल के अलावा ब्लूटुथ और अन्य कनेक्टिविटी फीचर दिए गए हैं।