Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार

बीपीसीएल को महारत्न का दर्जा, क्या होंगे फायदे

प्रकाशित Tue, 12, 2017 पर 12:35  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बीपीसीएल को महारत्न का दर्जा दे दिया गया है। अब कंपनी को 5000 करोड़ रुपये तक के निवेश के लिए सरकार से अनुमति लेने की जरूरत नहीं होगी। साथ ही ज्वाइंट वेंचर के लिए बीपीसीएल को सरकार से मंजूरी नहीं लेनी होगी। इसके अलावा सब्सिडियरी बनाने के लिए सरकार से मंजूरी की जरूरत नहीं होगी। विदेश में कामकाज का फैसला बीपीसीएल खुद ले सकेगी।


महारत्न का दर्जा ऐसी कंपनियों को दिया जाता है जो न्यूनतम पब्लिक होल्डिंग के साथ स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्ट हो। 3 साल से 25000 करोड़ रुपये सालाना टर्नओवर होना जरूरी होता है। 3 साल से सालाना नेटवर्थ 15000 करोड़ रुपये होना जरूरी होता है। 3 साल से सालाना मुनाफा 5000 करोड़ रुपये होना चाहिए। देश के अलावा कंपनी का कारोबार विदेश में भी होना चाहिए।