Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

घर के पास है जंक फूड की दुकान तो हो जाएं सावधान!

प्रकाशित Tue, 03, 2017 पर 11:16  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

मोटापा, ब्लड प्रेशर, डायबिटीज और हार्ट अटैक के लिए आपके खान पान के साथ वो इलाका भी जिम्मेदार है जहां आप रहते हैं। जी हां, देश के सबसे बड़े चिकित्सा संस्थान एम्स की एक रिसर्च में इस बात का खुलासा हुआ है। देश के सबसे बड़े चिकित्सा संस्थान एम्स की ताजा रिसर्च में पाया गया कि ऐसे इलाके जहां जंक फूड चेन और रेस्त्रां ज्यादा हैं वहां रहने वाले लोगों में ना सिर्फ मोटापा बढ़ा बल्कि बीपी, डायबिटीज और दिल की बीमारियों का खतरा भी बढ़ा। वहीं दूसरी तरफ ऐसे इलाके जहां जंक फूड चेन और रेस्त्रां कम हैं, वहां रहने वाले लोगों में ऐसी बीमारियां कम देखने को मिलीं।


रिसर्च में ये भी पाया गया है कि ऐसे इलाके जहां पर जनसंख्या घनत्व कम है और खेलने कूदने के लिए ज्यादा जगह है वहां रहने वाले लोग ज्यादा स्वास्थ नजर आए। इस रिसर्च के लिए एम्स ने रेंडमली चुने गए दिल्ली के हर ब्लॉक में 20 घरों का चुनाव किया। हर घर से दो सदस्यों के सेंपल इकट्ठा किए गए। खास बात ये है कि 2010-11 में सर्वे की शुरुआत में जिन लोगों को सेंपल के तौर पर चुना गया वो पूरी तरह स्वस्थ थे। इन लोगों की पहले साल बीपी, डायबिटीज, कॉलेस्ट्रॉल, किडनी फंक्शन, लिवर फंक्शन, स्लाइवा टेस्ट और दिल की जांच की गई।


इन जांचों को हर साल दोहराया गया। रिसर्च में साफ है कि जिन इलाकों में जंक फूड ज्यादा मिलता है रेस्टोरेंट ज्यादा है वहां के लोग मोटापे के शिकार बने उन्हें बीपी, शुगर हार्ट अटैक का खतरा है। वहीं वो इलाके जहां ऐसे रेस्टोरेंट नहीं हैं वहां के लोग स्वास्थ्य़ नजर आए। रिसर्च टीम ने जीआईएस और जीपीएस मैंपिंग के जरिए ये भी जाना कि सेंपल वाले इलाकों में रेस्टोरेंट और फास्टफूड चेन की संख्या कितनी है। जंक फूड के खिलाफ तमाम मंत्रलयों के साथ मिलकर एक्शन प्लान तैयार कर रही केंद्र सरकार के लिए एम्स का ताजा रिसर्च महत्वपूर्ण साबित हो सकता है। इस रिसर्च से साफ है कि बीपी, शुगर और हार्ट अटैक के लिए सिर्फ खान-पान ही नहीं वो इलाका भी जिम्मेदार है जहां आप रहते हैं।