Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

जीएसटी के बाद चार्टर्ड अकाउंटेंट्स का बढ़ा काम

प्रकाशित Mon, 09, 2017 पर 19:42  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

जीएसटी लागू होने के बाद चार्टर्ड अकाउंटेंट्स के कंधों पर जिम्मेदारी और बढ़ गई है। सीएनबीसी-टीवी 18 संवाददाता अर्चना शुक्ला ने महाराष्ट्र के भिवंडी में कुछ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स से बात की और जानने की कोशिश की कि जीएसटी के बाद उनके काम में क्या बदलाव आया है।


महाराष्ट्र का छोटा-सा शहर भिवंडी, पावरलूम इंडस्ट्री के इस हब में एक जुलाई से पहले इनडायरेक्ट टैक्स को लेकर कोई चिंता नहीं थी। लेकिन जीएसटी लागू होने के बाद सब कुछ बदल गया है। चार्टर्ड अकाउंटेंट्स के ऑफिसों में फाइलों के ढेर लग गए हैं। उनका कहना है कि जीएसटी के कड़े नियम और तय तारीखों पर काम पूरा करने से बोझ बढ़ गया है।


नए टैक्स सिस्टम में जहां एक तरफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स को रेगुलेटरी बदलावों में लगातार नजर रखनी पड़ रही है। वहीं दूसरी तरफ जीएसटी नेटवर्क की दिक्कतों ने काम और मुश्किल कर दिया है।


भिवंडी में कई कपड़ा कारोबारियों ने अभी तक जीएसटी में रजिस्ट्रेशन नहीं कराया है। टैक्स एक्सपर्ट्स के मुताबिक जीएसटी में कड़े कॉम्प्लायंस नियम और पेनल्टी के डर से कई कपड़ा कारोबारी आगे भी जीएसटी रजिस्ट्रेशन में देरी कर सकते हैं।