Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

अमेजॉन के खिलाफ रिटलेर्स की लड़ाई

प्रकाशित Tue, 10, 2017 पर 09:49  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

ऑनलाइन स्टोर के खिलाफ बड़े रिटलर्स और विक्रेताओं ने मोर्चा खोल दिया है। उनका कहना है कि अमेजॉन गलत तरीके ग्राहकों को अपनी ओर खींचने के लिए ऑफर्स दे रहा है। वहीं विक्रेताओं ने आरोप लगाया है कि ऑनलाइन कंपनियां उनको वक्त पर पैसा नहीं देती हैं। 


अमेजॉन ने एफएमसीजी कंपनियों के साथ एक करार किया कि वो उनके प्रोडक्ट के साथ एक कूपन देंगे। आईटीसी, नेस्ले और कोका-कोला के उत्पादों के साथ कूपन मिलने लगे,लेकिन अब इस वजह से ही ऑफलाइन स्टोर और ऑनलाइन स्टोर की लड़ाई छिड़ गई। बड़े रिटेलर्स जैसे बिग बाजार, हाइपरसिटी, स्टार बाजार, डीमार्ट जैसे रिटेलर्स का कहना है की बिना उनसे पूछे अमजॉन ऐसा कर रहा है जो कि अनैतिक है। इसलिए उन्होंने एफएमसीजी कंपनियो से स्टॉक वापस लेने को कह दिया है।


रिटेलर्स ही नहीं ऑनलाइन मार्केटप्लेयर से उनके विक्रेता भी नाराज है। इस बारे में ऑल इंडिया ऑनलाइन वेंडर्स एसोसिएशन ने आरबीआई को शिकायत भी दी है। नियमों के हिसाब से दो से तीन दिन में सारा पेमेंट हो जाना चाहिए लेकिन 15 दिन तक ऑनलाइन कंपनियां पैसे लटकाकर रखते हैं। अब आरबीआई ने इस पर ऑनलाइन मार्केटप्लेयर को फटकार लगाई है।


ये पहली बार नहीं है जब ऑनलाइन और ऑफलाइन के बीच जंग का मोर्चा खुला हो पहले भी ग्राहकों को गलत तरह से आकर्षित करने के लिए ऑफर्स देने का आरोप ऑनलाइन कंपनियों पर लगा है ऐसे में कूपन की किचकिच आगे बढ़ सकती है।