Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

निराश कर सकते हैं दूसरी तिमाही के नतीजे

प्रकाशित Tue, 10, 2017 पर 09:51  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सितंबर तिमाही के नतीजों की शुरुआत होने वाली है। दूसरी तिमाही में भी भारतीय कंपनियों की ओर से कमजोर नतीजे पेश करने की आशंका है। बैंक, एनबीएफसी और कमोडिटी जैसे सेक्टर्स को छोड़कर अन्य क्षेत्रों की कंपनियों का मुनाफा घटने की आशंका है।


हालांकि सितंबर तिमाही के नतीजे जून तिमाही के मुकाबले थोड़े बेहतर रहने की संभावना है। पीएसयू बैंक, एक्सपोर्टर्स और एफएमसीजी कंपनियों में सुस्त ग्रोथ की आशंका है। एनर्जी, मेटल और प्राइवेट बैंकों की अच्छी ग्रोथ संभव है। वहीं टेलीकॉम और हेल्थकेयर सेक्टर की कमाई में तेज गिरावट संभव है।


कंज्यूमर प्रोडक्ट क्षेत्र की कमाई बढ़ने की उम्मीद है। जीएसटी के बाद रीस्टॉकिंग और जल्दी त्योहारों का फायदा मिल सकता है। वहीं एनर्जी सेक्टर की कंपनियों को ऊंचे जीआरएम और इंवेंट्री का फायदा मिल सकता है। इंडस्ट्रियल, मेटल और माइनिंग कंपनियों की कमाई बढ़ सकती है। कमोडिटी की बढ़ती कीमतों का फायदा मिल सकता है। निजी क्षेत्र के बैंकों के डूबे कर्ज में कमी आने की उम्मीद है।


हालांकि ऑटो क्षेत्र की कंपनियों के मार्जिन पर दबाव संभव है। इनपुट कॉस्ट बढ़ने से कमाई पर दबाव दिख सकता है। वहीं फार्मा कंपनियों के नतीजे भी कमजोर रह सकते हैं। अमेरिका में रेवेन्यू और कीमतों पर दबाव की आशंका है। जीएसटी और कंपिटीशन बढ़ने से टेलीकॉम की हालत खस्ता रह सकती है।