Moneycontrol » समाचार » प्रॉपर्टी

रियल एस्टेट गाइड: कैसा है चेन्नई का रियल एस्टेट मार्केट

प्रकाशित Mon, 06, 2017 पर 12:35  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

चेन्नई के दक्षिण-पश्चिम में बसा बेहद खास हिस्सा ओरागडम, ओरागडम चेन्नई अंतरर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट से करीब 34 किमी की दूरी पर मौजूद, तेजी से उभरता इंडस्ट्रियल एरिया है। ओरागडम ग्रैंड साउदर्न ट्रंक रोड यानि एनएच-45 और एनएच-4 से घिरा हुआ है। ओरागडम साउथ एशिया के सबसे बड़े ऑटो और ऑटो सेक्टर से जुड़ी कंपनियों के हब के तौर पर जाना जाता है। ओरागडम में डायमलर, अपोलो, रेनो-निशान, फोर्ड और आयशर समेत 100 से ज्यादा वर्ल्ड क्लास कंपनियों की मैन्युफैक्चरिंग युनिट्स हैं। ओरागडम में दुनियाभर से करीब 16 बिलियन डॉलर का निवेश एफडीआई के जरिए किया गया है। यहां एजूकेशनल इंस्टीट्यूट्स और हॉस्पिटल्स की कोई कमी नहीं है। यानि ओरागडम के सोशल इंफ्रास्ट्रक्चर का स्तर काफी बेहतर है। इस लिहाज से यहां 3 लाख लोगों के रोजगार का अनुमान लगाया गया है। ओरागडम के फ्यूचर डेवलपमेंट पर नजर डालें तो चेन्नई से बंगलुरू के लिए फ्रेट कॉरीडोर बनना है, श्रीप्रम्बदूर से एन्नोर के लिए 6 लेन चेन्नई पेरीफेरल रोड बनेगी, श्रीप्रम्बदूर में 350 एकड़ में एयरोस्पेस एंड लॉजिस्टिक्स पार्क बनना है, दूसरा ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट और चेन्नई रिंग रोड जैसी परियोजनाए तैयार होनी है जो ओरागडम को विकास के अलग ही मुकाम पर पहुंचाने का माद्दा रखती है। यानि वर्तमान के साथ ही भविष्य के लिहाज से भी ओरागडम एक हॉट प्रॉप्रटी डेस्टिनेशन बनने को पूरी तरह से तैयार है। इसी का नतीजा है कि यहां कई बड़े डेवलपर्स ने अपनी मौजूदगी दर्ज करा दी है।


महाराष्ट्र के रियल एस्टेट मार्केट में हीरानंदानी ग्रुप सबसे पुराने नामों में से एक है। 1978 में शुरु हुए हीरानंदानी ने 1987 से रियल एस्टेट सेक्टर में कदम रखा जो आज एक बड़े ब्रांड नेम के तौर पर स्टैब्लिश है। कंपनी की शानदार इमेज, वर्किंग स्टाइल, के चलते हीरानंदानी ग्रुप को देशभर के बिल्डरों का सम्मान हासिल है। अपने बेहतर काम के चलते कंपनी ने लगातार नए बेंचमार्क सेट किए। हीरानंदानी को खास पहचान मिली पवई में यूरोपिन आर्किटेक्चर पर बनी टाउनशिप हीरानंदानी गार्डन से। इसके अलावा कंपनी ने ठाणे और नवी मुंबई में भी टाउनशिप प्रोजेक्ट बनाए हैं। महाराष्ट्र के अलावा  कंपनी ने चेन्नई और दुबई तक अपनी पहुंच कायम की है। हीरानंदानी ग्रुप का खास ध्यान हाइ क्वालिटी और कंज्यूमर सेटिस्फेक्शन पर रहता है जिसकी वजह से आज कंपनी ग्राहकों की पसंदीदा रियल एस्टेट कंपनी बन चुकी है।


ओरागडम के मॉर्डन टाउनशिप हीरानंदानी पार्क को करीब 400 एकड़ की जमीन पर बनाया जा रहा है। इसे कई फेज में प्लान किया गया है। पहले फेज में 12 एलआरबी यानि लो राइज बिल्डिंग और 10 एचआरबी यानि हाई राइज बिल्डिंग्स हैं। दूसरे फेज में प्लॉटेड डेवलपमेंट किया जा रहा है। पहला फेज पूरी तरह से बन चुका है। जिसे 40 एकड़ में बनाया गया है। यहां 2.5 और 3 बीएसके के करीब 1500 सौ घर हैं, जिनमें 1200 से ज्यादा घर बिक चुके हैं। 250 से ज्यादा परिवार यहां रह भी रहे हैं। प्लॉटेड डेवलपमेंट टिएरा यानि दूसरा फेज 2 पार्ट में प्लान किया गया है। पहला हिस्सा 10 एकड़ का है इसमें 1200 वर्गफीट से लेकर 3600 वर्गफीट तक के प्लॉट रखे गए हैं। टियरा का दूसरा फेज 35 एकड़ में है जो कि प्लानिंग और मंजूरी के स्तर पर है।


ओरागडम हीरानंदानी पार्क की सबसे बड़ी खासियत है यहां की वर्ल्ड क्लास एमिनिटीज, बास्केट बॉल, लॉन टेनिस, जिम, स्वीमिंग पूल और क्लब हाउस के अलावा हॉर्स राइडिंग जैसे यूनीक स्पोर्ट्स भी आपको यहां मिलते हैं। 55 एकड़ में फैला 9 होल गोल्फ कोर्स 250 मीटर ड्राइविंग रेंज में है जो कि चेन्नई का सबसे लंबा ड्राइविंग रेंज है। वेस्ट मैनेजमेंट, वॉटर मैनेजमेंट समेत हीरानंदानी पार्क में ग्रीनरी और खुलापन इतना ज्यादा है कि आपको यहां किसी 7 स्टार रिसॉर्ट का अहसास होता है। इन्हीं सब वजहों के चलते जापनीस, कोरियन और दूसरे कई देशों के लोगों के लिए हीरानंदानी पार्क पसंदीदा आशियाना बन चुका है। हीरानंदानी पार्क में प्लॉट का भाव 2220 प्रति वर्गफुट है। यहां 63 लाख में 2.5 बीएचके घर और 76 लाख में 3 बीएचके घर मिल सकते हैं। यहां साइज के हिसाब से कीमतें अलग हैं और हर बजट के हिसाब से घर मिल सकते हैं।