Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

दिल्ली में ऑड-ईवन अभी नहीं, दिल्ली सरकार ने वापस लिया फैसला

प्रकाशित Sat, 11, 2017 पर 16:20  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

दिल्ली का क्या होगा, क्या कोई है जो इस बारे में सोच रहा है। आखिरकार दिल्ली सरकार चाहती क्या है? पहले तो आप देर से जागते हैं और ऑड-ईवन की घोषणा कर देते हैं और फिर जब कुछ सख्त टिप्पणियों और शर्तों के साथ एनजीटी इसकी मंजूरी देती है तो आप हाथ खड़े कर देते हैं। आखिर आप चाहते क्या हैं। दिल्ली सरकार का तर्क है कि वो टू-व्हीलर्स के साथ स्थिति को नहीं संभाल पाएंगे। साथ ही महिलाओं की सुरक्षा का भी हवाला दिया। अब दिल्ली सरकार सोमवार को फिर से एनजीटी जाने के लिए कह रही है। लेकिन इस सबके बीच सवाल है कि आखिर दिल्ली का क्या होगा? क्या ऐसे ही गैस चैंबर बनी रहेगी दिल्ली?


दरअसल दिल्ली सरकार ने तैयारियां ना होने का हवाला देकर ऑड-ईवन का फैसला पलटा। साथ ही दिल्ली सरकार ने महिलाओं की सुरक्षा को लेकर भी चिंता जताई। दिल्ली के ट्रांसपोर्ट मंत्री कैलाश गहलोत का कहना है कि पब्लिक ट्रांसपोर्ट दुरुस्त करने की जरूरत है और महिलाओं की सुरक्षा जरूरी है। एनजीटी को 2-व्हीलर और महिलाओं को ऑड-ईवन से बाहर करने पर विचार करना चाहिए। सोमवार को एनजीटी में ऑड-ईवन पर फिर अपील की जाएगी।


इससे पहले आज एनजीटी ने शर्तों के साथ ऑड-ईवन को मंजूरी दी थी। एनजीटी ने अपने फैसले में कहा कि PM 2.10 का स्तर 500 से ऊपर और PM 2.5 300 से ऊपर जाता है तो 48 घंटे के भीतर ऑड-ईवन स्कीम लागू कर दिया जाएगा। एनजीटी ने 2-व्हीलर, वीआईपी और महिला चालकों पर भी ऑड-ईवन लागू करने को कहा है। हालांकि एंबुलेंस जैसी इमरजेंसी सेवाओं को ऑड-ईवन से छूट दी गई है।


गौरतलब है कि दिल्ली में एयर क्वालिटी इंडेक्स खतरनाक स्तर पर है। PM 2.5 और PM 10 का स्तर 12 गुना से ज्यादा हो गया है और पूरी दिल्ली धुंध की चादर में लिपटी हुई है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की तरफ से दिल्ली में हेल्थ इमरजेंसी जारी की गई है। आईएमए ने सांस की तकलीफ वालों के लिए चेतावनी जारी कर घर से बाहर नहीं निकलने की हिदायत दी है। साथ ही आईएमए ने बच्चों को भी बाहर खेलने के लिए न भेजने की हिदायत दी है।