Moneycontrol » समाचार » चर्चित स्टॉक खबरें

हफ्ते की शुरुआत, कौन से शेयर रहेंगे फोकस में

प्रकाशित Mon, 13, 2017 पर 07:44  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

शेयरों की हर हलचल पर पैनी नजर रखकर अपने निवेश को सुरक्षित जरूर किया जा सकता है। यहां हम बता रहे हैं ऐसे शेयर जो रहेंगे आज खबरों में और जिन पर होगी बाजार की नजर।


रिलायंस कम्युनिकेशंस


वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में रिलायंस कम्युनिकेशंस को 2709 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। वित्त वर्ष 2017 की दूसरी तिमाही में रिलायंस कम्युनिकेशंस को 62 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था।


वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में रिलायंस कम्युनिकेशंस की आय 48.1 फीसदी घटकर 2667 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2017 की दूसरी तिमाही में रिलायंस कम्युनिकेशंस की आय 5142 करोड़ रुपये रही थी।


रिलायंस इंफ्रा


वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में रिलायंस इंफ्रा का मुनाफा मामूली बढ़कर 543 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2017 की दूसरी तिमाही में रिलायंस इंफ्रा का मुनाफा 540 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में रिलायंस इंफ्रा की आय 3.5 फीसदी बढ़कर 7734 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2017 की दूसरी तिमाही में रिलायंस इंफ्रा की आय 7476 करोड़ रुपये रही थी।


जैन इरीगेशन


वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में जैन इरीगेशन का मुनाफा 52.4 फीसदी घटकर 14.3 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2017 की दूसरी तिमाही में जैन इरीगेशन का मुनाफा 30.1 करोड़ रुपये रहा था। वहीं, वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में जैन इरीगेशन की आय 8.1 फीसदी बढ़कर 1598.2 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2017 की दूसरी तिमाही में जैन इरीगेशन की आय 1454.1 करोड़ रुपये रही थी।


साल दर साल आधार पर दूसरी तिमाही में जैन इरीगेशन का एबिटडा 190.2 करोड़ रुपये से बढ़कर 198.8 करोड़ रुपये रहा है। सालाना आधार पर दूसरी तिमाही में जैन इरीगेशन का एबिटडा मार्जिन 13.1 फीसदी से घटकर 12.4 फीसदी रहा है।


डीएलएफ


वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में डीएलएफ का मुनाफा 90 फीसदी घटकर 23.4 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2017 की दूसरी तिमाही में डीएलएफ का मुनाफा 233 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में डीएलएफ की आय 23.3 फीसदी घटकर 1587 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2017 की दूसरी तिमाही में डीएलएफ की आय 2070 करोड़ रुपये रही थी। साल दर साल आधार पर दूसरी तिमाही में डीएलएफ का एबिटडा 1020 करोड़ रुपये से घटकर 787 करोड़ रुपये रहा है।


बीईएमएल


वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में बीईएमएल को 10.2 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है। वित्त वर्ष 2017 की दूसरी तिमाही में बीईएमएल को 16 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था।


वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में बीईएमएल की आय 52.3 फीसदी बढ़कर 689.7 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2017 की दूसरी तिमाही में बीईएमएल की आय 453 करोड़ रुपये रही थी।


नेस्ले


साल 2017 की तीसरी तिमाही में नेस्ले का मुनाफा 23.2 फीसदी बढ़कर 343 करोड़ रुपये हो गया है। साल 2016 की तीसरी तिमाही में नेस्ले का मुनाफा 278 करोड़ रुपये रहा था।


साल 2017 की तीसरी तिमाही में नेस्ले की आय 7.3 फीसदी बढ़कर 2514 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। साल 2016 की तीसरी तिमाही में नेस्ले की आय 2342 करोड़ रुपये रही थी। साल दर साल आधार पर तीसरी तिमाही में नेस्ले का मार्जिन 20.9 फीसदी से बढ़कर 23.4 फीसदी रहा है।