Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार खबरें

जीएसटी की वजह से बिक्री पर दबाव: जेके पेपर

प्रकाशित Tue, 14, 2017 पर 13:58  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

जेके पेपर भारत में कागज बनाने वाली प्रमुख कंपनी है। ओडिशा और गुजरात में कंपनी के 2 प्लांट हैं। देश भर में कंपनी के करीब 4,000 डीलर नेटवर्क हैं। कंपनी दुनिया के 35 देशों को कागज एक्सपोर्ट करती है। 3 महीने में कंपनी का शेयर करीब 30 फीसदी उछला है।


वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में जेके पेपर का मुनाफा 9.6 फीसदी घटकर 54.21 करोड़ रुपये रहा है। वित्त वर्ष 2017 की दूसरी तिमाही में जेके पेपर का मुनाफा 59.97 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में जेके पेपर की आय करीब 1 फीसदी बढ़कर 671 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2017 की दूसरी तिमाही में जेके पेपर की आय 665 करोड़ रुपये रही थी।


जेके पेपर के प्रेसिडेंट ए एस मेहता ने कंपनी के नतीजों पर बात करते हुए सीएनबीसी-आवाज़ से कहा कि जीएसटी इफेक्ट और सीजनल प्रभाव के कारण दूसरी तिमाही में कंपनी नतीजे कमजोर रहे हैं। अब जीएसटी का प्रभाव खत्म हो गया है। इसके अलावा अक्टूर से पेपर इंडस्ट्री के लिए अच्छे सीजन की शुरुआत होती है जिससे आगे कंपनी की कमाई बढ़ने की अच्छी उम्मीद है।