टैक्स गुरू से जानें फायदे की बात - Moneycontrol
Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स गुरू से जानें फायदे की बात

प्रकाशित Sat, दिसम्बर 11, 2010 पर 14:49  |  स्रोत : Hindi.in.com

11 दिसंबर 2010

सीएनबीसी आवाज़



टैक्स गुरू सुभाष लखोटिया ने टैक्स छूट से जुड़ी काफी सारी जानकारी दी हैं जो आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकती है।


 


शेयरों के लिए लोन लेने, गिरवी रखने पर टैक्स छूट-



मान लीजिए आपने कर्ज लेकर शेयर खरीदें हैं और उस कर्ज के ब्याज का भुगतान कर दिया है। यदि वो शेयर 1 साल के भीतर बेच दिए गए हैं और शॉर्ट टर्म कैपिटल गेन हुआ है तो आप ब्याज पर टैक्स छूट ले सकते हैं।



वहीं 1 साल के बाद शेयर बेचने पर आपको लॉन्ग टर्म गेन होगा तब आप टैक्स छूट के लिए दावा नहीं कर सकते हैं।


साथ ही अगर आपने शेयर खरीदें है और उन्हें बैंक में गिरवी रखकर कर्ज लिया है तो इन पर किसी भी तरह की कर छूट मिलनी संभव नहीं है।


होमलोन पर टैक्स छूट-



पति-पत्नी दोनों ने मिलकर होमलोन लिया है तो भी दोनों अलग-अलग टैक्स छूट हासिल कर सकते हैं। घर के लोन और मालिकाना हक के हिसाब से पति-पत्नी अलग टैक्स छूट का लाभ उठा सकते हैं। आयकर नियमों के तहत 1 साल में होमलोन पर पतिपत्नी अलग-अलग 1,50,000 रुपये तक की छूट ले सकते हैं।


अगर किसी व्यक्ति ने अपनी मां के साथ मिलकर होमलोन लिया है ओर इस कर्ज के ब्याज का भुगतान और रिपेमेंट अकेले वही कर रहा है तो इस पर वही व्यक्ति पूरी तरह कर छूट ले सकता है।


राजनीतिक दलों को डोनेशन पर टैक्स छूट-


अगर कंपनियां राजनीतिक दलों को डोनेशन दे रही हैं तो आयकर की धारा 80जीजीबी के तहत उन्हें डोनेशन की पूरी राशि पर टैक्स छूट मिलेगी। इसके अलावा अगर कोई व्यक्ति भी राजनीतिक दलों को डोनेशन देता है तो आयकर की धारा 80जीजीसी के तहत दान की हुई राशि को आय में से घटा कर बाकी आमदनी पर टैक्स की देनदारी बनेगी।


मां को दिए उपहार पर टैक्स छूट-

अगर आप अपनी मां को तोहफे के रूप में कोई रकम देते हैं तो ये राशि उनकी आमदनी नहीं मानी जाएगी और उन्हें इस पर किसी भी तरह का टैक्स भुगतान नहीं करना होगा। आप अपनी मां को जितनी चाहें उतनी रकम तोहफे के रूप में दे सकते हैं।


अगर किसी बैंक और आर्थिक संस्थाओं के बदले हिंदू अनडिवाइडेड फैमिली से लोन लिया है तो आपको ब्याज पर टैक्स नहीं देना होगा। हांलांकि टैक्स गुरू के मुताबिक एक बात का ख्याल रखें कि डीटीसी (डायरेक्ट टैक्स कोड) लागू होने के बाद इस तरह के कर्ज पर मिलनी वाली टैक्स छूट को समाप्त किया जा सकता है।


वीडियो देखें


इस बारे में अपनी राय दीजिए
पोस्ट करनेवाले: subasuपर: 21:37, अक्तूबर 31, 2014

Tax Planning & Help

I commend his intentions. Desaiji, please, help him file the return electronically. If his income exceeds Rs. 2.5...

पोस्ट करनेवाले: samirprabhudesaiपर: 19:27, अक्तूबर 31, 2014

Tax Planning & Help

Hello, Our electrician accepts payments in cash from everybody. Now he wants to file his IT returns. Please advise...