Moneycontrol » समाचार » प्रॉपर्टी

रियल एस्टेट गाइड: कैसा है गोदरेज 24 हिंजेवाड़ी फेज-1 प्रोजेक्ट

प्रकाशित Mon, 27, 2017 पर 09:52  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

मुंबई की सेटेलाइट सिटी और महाराष्ट्र के दूसरे सबसे बड़े शहर पुणे की अपनी कई खासियत हैं, मसलन ये शहर एजूकेशन, ऑटो इंडस्ट्री और आईटी इंडस्ट्री का हब बन चुका है। पुणे की आब ओ हवा और भौगोलिक स्थिति ऐसी है देश की जानी मानी कंपनियों में से शायद ही कोई ऐसी हो जो यहां मौजूद ना हो। इसी वजह से पुणे में चौतरफा विकास हो रहा है। पुणे का हिंजेवाड़ी एरिया आज आईटी कंपनियों का गढ़ बन चुका है। टाटा, विप्रो, इंफोसिस समेत ढेरों कंपनियां हिंजेवाड़ी में मौजूद हैं। कनेक्टिविटी की बात हो, सोशल इंफ्रास्ट्रक्चर की बात हो या फिर भविष्य में बनने वाली रिंग रोड और पुणे मेट्रो रेल कॉरीडोर, हिंजेवाड़ी हर एंगल से महत्वपूर्ण है। रियल एस्टेट की नजर से हिंजेवाड़ी एक बड़ा और लगातार बढ़ता हुआ मार्केट है। यहां घरों की रेंटल डिमांड तो हमेशा हाई रहती है तो वहीं नए घर खरीदार भी हिंजेवाड़ी में अपना आशियाना बनाना चाहते हैं। अब चाहे निवेश के लिहाज से हो या फिर रहने के लिए, हिंजेवाड़ी का प्रॉप्रटी मार्केट घर खरीदार और बिल्डर दोनों के लिए फायदेमंद है।


गोदरेज ग्रुप की शुरुआत 1897 में हुई। तब से अब तक कंपनी ने फर्नीचर, लॉक्स और आम जिंदगी से जुड़े ढेरों प्रोडक्ट्स बनाए। आज दुनियाभर में करोड़ों लोग गोदरेज के प्रोडक्ट्स एक भरोसे के साथ इस्तेमाल करते हैं। करीब करीब हर घर में अपनी मौजूदगी कायम करने वाली गोदरेज 1990 में घर बनाने के बिजनेस में यानि रियल एस्टेट में उतर आई और भारत की पहली आईएसओ प्रमाणित रियल एस्टेट कंपनी बनी। आज दर्जनभर शहरों में गोदरेज प्रॉपर्टीज के प्रोजेक्ट हैं। साल 2016 में कंपनी ने करीब 6 मिलियन वर्गफीट के प्रोजेक्ट डिलिवर किए हैं और 125 मिलियन वर्गफीट एरिया पर कंस्ट्रक्शन कर रही है। अपने बेहतरीन काम की बदौलत बीते वर्षों में गोदरेज अपने ब्रांड नेम को लगातार मजबूत करती आ रही है। जिसकी वजह से गोदरेज प्रॉपर्टीज 150 से ज्यादा अवॉर्ड्स हासिल कर चुकी है। वैसे तो कंपनी का हर प्रोजेक्ट ही अहम होता है लेकिन मुंबई के उपनगर विक्रोली में गोदरेज अपने फ्लैगशिप प्रोजेक्ट द ट्रीज, पुणे में गोदरेज 24, गोदरेज प्राणा और गोदरेज इंफिनिटी समेत कई प्रोजेक्ट पर खास फोकस कर रही है।


गोदरेज 24 हिंजेवाड़ी फेज-1 ठीक मान रोड पर है। इस प्रोजेक्ट को 17 एकड़ की जमीन पर तैयार किया जाना है। पूरे प्रोजेक्ट में कुल 12 टॉवर्स होंगे जिन्हें समान रूप से एक दूसरे के सामने बनाया जाएगा। 2 प्लस 17 फ्लोर के इन टॉवर्स में सिर्फ 2 और 3 बीएचके के घरों को प्लान किया गया है जिनमें सर्विस सेक्टर के लोगों को ध्यान में रखते हुए 2 बेडरूम फ्लैट्स पर ज्यादा फोकस रखा गया है। यानि इनके एरिया की बात करें तो 2 बीएचके घरों में 61.28 वर्ग मीटर से लेकर 87.57 वर्ग मीटर के विकल्प हैं तो वहीं 3 बीएचके में 108 वर्र मीटर का ऑप्शन रखा गया है। गोदरेज 24 में सभी तरह के करीब 816 घर बनाए जाने हैं।


गोदरेज 24 की सबसे खास बात है यहां बनने वाली एमिनिटीज। इस प्रोजेक्ट में दो दर्जन से ज्यादा मॉर्डन एमिनिटीज प्लान की गई हैं। जिनमें तकरीबन सभी तरह के इनडोर-आउटडोर गेम्स तो होंगे साथ ही टेम्परेचर कंट्रोल्ड स्वीमिंग पूल, रॉक क्लिंम्बिंग, क्लीनिक, लॉन्ड्रोमैट, रेस्त्रां, लाइब्रेरी और कॉन्सियार्ज सर्विस होगी। मुख्य बात ये है कि यहां हर सुविधा 24x7 यानि हमेशा इस्तेमाल की जा सकेगी। गोदरेज 24 का कंस्ट्रक्शन जनवरी 2018 में शुरू होगा और ये प्रोजेक्ट 2021 में पूरी तरह से ग्राहकों को डिलिवर कर दिया जाएगा।