Moneycontrol » समाचार » बाजार आउटलुक- फंडामेंटल

गुजरात चुनाव के नतीजे अहम, कैसी रहेगी बाजार की चाल

प्रकाशित Wed, 06, 2017 पर 11:43  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बाजार की चाल पर सिटरस एडवाइजर्स के फाउंडर, संजय सिन्हा का कहना है कि बॉन्ड यील्ड में बढ़ोतरी और वित्तीय घाटे का बढ़ना, ये दो अहम कारण हैं जिससे बाजार चिंतित नजर आ रहा है। बाजार अनुमान लगा रहा है कि आगे महंगाई दर में बढ़ोतरी दिखेगी जिससे ब्याज दरों में कटौती होना मुश्किल है। अगर आरबीआई की ओर से बेहतर कमेंटरी निकलकर आती है तो इससे बाजार का मूड सुधरने में मदद मिलेगी।


संजय सिन्हा के मुताबिक बाजार में गुजरात चुनाव के नतीजों को लेकर भी अनिश्चितता का माहौल है। अगर इस बार के चुनाव में बीजेपी पिछले चुनाव से कम सीटें हासिल होती हैं तो इससे बाजार में गिरावट गहराने की आशंका है। हालांकि गुजरात चुनाव के नतीजों का बाजार पर असर कुछ दिनों के लिए ही रहेगा। चुनावों की गहमागहमी खत्म होने के बाद बाजार की नजर बजट के एलानों पर होगी।


संजय सिन्हा का मानना है कि घरेलू निवेशकों की लिक्विडिटी बढ़ने से बाजार को काफी सहारा मिला है। यही वजह है कि आगे भी भारतीय बाजारों में तेजी का सिलसिला बरकरार रह सकता है। संजय सिन्हा ने कहा कि कंपनियों के नतीजों में सुधार देखने को मिल रहा है। आगे कंपनियों के नतीजों में और अच्छा सुधार देखने को मिलेगा। इस लिहाज से अगर बजट से कोई निराशा नहीं होती है तो बाजार में अच्छी तेजी बनने की पूरी उम्मीद है।