Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

मैकेन वर्ल्डग्रुप बना एजेंसी ऑफ द ईयर

प्रकाशित Sat, 06, 2018 पर 16:50  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

एफिशियंसी फॉर एक्सलेंस, क्रिएटिविटी के लिए मिलने वाले सबसे बड़े एड अवॉर्ड में मैकेन वर्ल्डग्रुप ने इस साल बाजी मारी। वहीं क्लाइंट ऑफ द ईयर के लिए पेटीएम और दि एफी अवॉर्ड मिला ऑगिल्वि एन माथर एड एजेंसी को। मुंबई में आयोजित इस अवॉर्ड फंक्शन में एड के कई दिग्गजों ने भी शिरकत की।


मां मानें डेटॉल का धुला., और इसी संदेश पर मुहर लगाई दि एडवर्टाइजिंग क्लब की जूरी ने। मुंबई के पांच सितारा होटल में आयोजित 17वें एफी अवॉर्ड में इस साल मैकेन वर्ल्डग्रुप का बोलबाला रहा। 5 गोल्ड, 16 सिल्वर और 12 ब्रॉन्ज जीतकर मैकेन वर्ल्डग्रुप ने एजेंसी ऑफ द ईयर का खिताब जीता। पेटीएम, डेटॉल, बिल एन मिंडा फाउंडेशन, हार्पिक, स्वच्छ इंडिया, सफोला जैसे ब्रांड के कैंपेन ने मैकेन वर्ल्डग्रुप को एक बार फिर सभी एड एजेंसियों की फेहरिस्त में नंबर वन पर पहुंचा दिया। सिर्फ पेटीएम कैंपेन के लिए एजेंसी को 3 गोल्ड मिले। मैकेन वर्ल्डग्रुप के सीईओ, प्रसून जोशी इस जीत का श्रेय टीमवर्क और क्लाइंट्स के साथ एजेंसी के साथ तालमेल को देते हैं।


वहीं स्टार इंडिया के नई सोच कैंपेन के लिए ऑगिल्वि एन माथर एड एजेंसी को दि ग्रेट एफी अवॉर्ड से नवाजा गया। 177 प्वॉइंट्स और 4 गोल्ड, 8 सिल्वर, 12 ब्रॉन्ज के साथ एजेंसी दूसरे नंबर पर रही। समाज की रुढ़िवादी सोच को तोड़ने और नए बदलाव को भांपते हुए जब एजेंसी और क्लाइंट मिलकर काम करते हैं, तभी ऐसे विज्ञापन देखने को मिलते हैं, ऐसा कहना है ऑगिल्वि एन माथर के सोनल डबराल का।


क्लाइंट ऑफ दि ईयर का अवॉर्ड मिला पेटीएम को। इस मौके पर विज्ञापन जगत के सभी दिग्गज मौजूद थे। 2017 में कई ऐसे विज्ञापन देखने को मिले, जो समाज में बदलाव लाते दिखे। अब देखना होगा इस साल विज्ञापनों में क्या नया देखने को मिलता है।