Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

आधार के लिए वर्चुअल आईडी जारी करेगा यूआईडीएआई

प्रकाशित Wed, 10, 2018 पर 17:25  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

आधार डाटा लीक होने की खबरों के बीच सरकार ने एक बड़ा फैसला लि‍या है। आधार नंबर को सुरक्षित करने के लिए यूआईडीएआई अब आधार नंबर की जगह वर्चुअल आईडी देगी। इसके लिए यूआईडीएआई को जरूरी निर्देश जारी भी कर दिए गए हैं। वर्चुअल आईडी 16 अंकों की होगी। जो आधार वैरिफिकेशन के वक्त इस्तेमाल में आएगी।
 
आधार नंबर की जगह वर्चुअल आईडी की यह नई व्यवस्था 1 मार्च 2018 से लागू हो जाएगी। जिसे 1 जून 2018 से अनिवार्य किया जायेगा। बता दें कि केवायसी के वक्त वर्चुअल आईडी से वैरिफिकेशन होगा। हालांकि वैरिफिकेशन के वक्त आधार नंबर नहीं देना होगा।


जानकारों का मानना है कि वर्चुअल आईडी की इस नई व्यवस्था से आधार नंबर ज्यादा सुरक्षित रहेगा और असली नंबर गलत हाथों में जाने से बचेगा। वर्चुअल आईडी से आधार नंबर देने के बजाय वर्चुअल नंबर देने का विकल्प मिल जायेगा और अलग-अलग वैरिफिकेशन पर अलग अलग वर्चुअल नंबर होगें।


इधर आधार की सुरक्षा को लेकर आरबीआई का थिंक टैंक आईडीआरबीटी ने गंभीर सवाल खड़े किए है। उसने कहा है कि आधार का डाटा, साइबर अपराधियों और दुश्मनों के लिए आसान निशाना हो सकता है। रिपोर्ट के मुताबिक आधार को टार्गेट कर बड़ी तबाही लाना आसान होगा। आधार की जानकारी हैक होने पर इकोनॉमी को बड़ा नुकसान संभव है।


आधार को लेकर एक और बड़ी चौंकाने वाली खबर है। अगर किसी के पास आपका आधार नंबर है तो वो ये जान सकता है कि आपने उसको किस बैंक में अपने अकाउंट से लिंक किया है।


वहीं पूर्व यूआईडीएआई चेयरमैन नंदन नीलेकणि ने सरकार के इस कदम का स्वागत किया है। उन्होंने कहा है कि इससे प्राइवेसी के साथ साथ डाटा भी सुरक्षित रहेगा।