Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

जानें लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन्स टैक्स बचाने का फॉर्मूला

प्रकाशित Mon, 05, 2018 पर 13:08  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन्स टैक्स से निवेशक परेशान हैं। बता दें कि अब 1 लाख से ज्यादा के मुनाफे पर 10 फीसदी एलटीसीजी टैक्स लगेगा। अब डिविडेंड वाले इक्विटी एमएफ बेचने पर भी एलटीसीजी टैक्स लगेगा। ये टैक्स 1 फरवरी से होने वाले फायदे पर लागू होगा। एलटीसीजी के साइड इफेक्ट्स की बात करें तो ईएलएसएस फंड्स पूरी तरह टैक्स-फ्री नहीं रहेगा। इससे ईएलएसएस फंड्स से होने वाले रिटर्न पर असर होगा। जानकारों के मुताबिक 10 फीसदी एलटीसीजी लगने से निवेशकों को 30-40 फीसदी नुकसान संभव है। हालांकि निवेश का तरीका बदलने से नुकसान कम हो सकता है।


एलटीसीजी के साइड इफेक्ट्स से कैसे बचा जा सकता है इस पर बात करते हुए वैल्यू रिसर्च के सीईओ धीरेंद्र कुमार ने कहा कि शेयरों को जल्दी-जल्दी खरीदने-बेचने की कोशिश ना करें। इक्विटी के बदले म्यूचुअल फंड में निवेश करें। हाइब्रिड, मल्टी-कैप, मल्टी-एसेट फंड्स में पैसे लगाएं। हर साल के अंत में 1 लाख रुपये तक का मुनाफा वसूलें। मुनाफावसूली के बाद दोबारा वही शेयर खरीदें। ऐसा करने से आपको 10000 रुपये सालाना तक की बचत होगी।