Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

शेल कंपनियों पर और कसेगा शिकंजा

प्रकाशित Mon, 12, 2018 पर 16:33  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

छोटी छोटी शेल कंपनियों के जरिये काली कमाई को ठिकाने लगाने वालों की अब खैर नहीं। सीएनबीसी-आवाज़ को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक ऐसी कंपनियों की पहचान करने और उनके खिलाफ कार्रवाई के लिए इनकम टैक्स डिपार्टमेंट खास रणनीति बना रहा है। इसके लिए बजट में नियमों में जरूरी बदलाव भी कर दिया गया है।


शेल कंपनियों की पहचान के लिए नई रणनीति बनाई गई है। बजट में हर कंपनी के लिए रिटर्न फाइल करना जरूरी किया गया है। अब शेल कंपनियों के रिटर्न की बारीकी से जांच होगी। रिटर्न फाइलिंग के नियम बदलने से अब इनका बचना मुश्किल होगा। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की नई रणनीति के तहत छोटी-छोटी शेल कंपनियों के जरिए होने वाले निवेश पर नजर रखी जाएगी।


बता दें कि शेल कंपनियों के जरिये काली कमाई के निवेश और बेनामी संपत्ति के इस्तेमाल की आशंका है। अब पहली बार रिटर्न फाइल करने वाली कंपनियों पर नजर होगी पहले 3000 तक टैक्स देनदारी वाली कंपनियों को रिटर्न फाइलिंग से छूट थी। इस बजट में हर कंपनी के लिए रिटर्न फाइल करना जरूरी कर दिया गया है। नए नियम के मुताबिक मुनाफा हो या ना हो रिटर्न फाइल करना जरुरी है। रिटर्न फाइल करने के बाद उनकी जांच आसानी से होगी। दोषी कंपनी के डायरेक्टर के खिलाफ कार्रवाई करने का अधिकार मिलेगा। अभी करीब 8 लाख रजिस्टर्ड कंपनियां रिटर्न फाइल नहीं करतीं। लेकिन जानकारों का कहना है कि रिटर्न फाइलिंग के नियम बदलने से ईमानदार कंपनियों की मुश्किलें बढ़ेंगी।