Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » निवेश

लोन और क्रेडिट कार्ड पर सलाह

प्रकाशित Sat, 18, 2010 पर 15:32  |  स्रोत : Hindi.in.com

18 दिसंबर 2010

सीएनबीसी आवाज़



जानते हैं लोन और क्रेडिट कार्ड से जुडी समस्याओं पर इंटरनैशनल मनी मैटर के सीओओ उदय धूत की सलाह -


सवाल : 1 साल से क्रेडिट कार्ड का पेमेंट ना करने के कारण सीआईबीआईएल (सिबिल) रिपोर्ट में रिटर्न नहीं दिख रहा है। पूरा पेमेंट करने पर क्या भविष्य में लोन मिल सकता है?   

उदय धूत : कंपनी से फाइनल सेटलमेंट रिकॉर्ड मंगना चाहिए। साथ ही नो ड्यूज सर्टिफिकेट भी लेना चाहिए। नो ड्यूज सर्टिफिकेट की रिपोर्ट सिबिल में भी जाती है। जो भी बाकी बिल हो उसका पेमेंट वक्त पर करें और कोई भी चेक बाउंस ना करने की सावधानी बरतें। 1-1.5 साल में दोबारा आपकी क्रेडिट हिस्ट्री क्लियर हो जाएगी। इसके बाद दोबारा बैंक में लोन मिल सकता है।  


सवाल : पर्सनल लोन और क्रेडिट कार्ड की सेटलमेंट हुई थी सिबिल में स्कोर अच्छा होने पर भी लोन नहीं मिल रहा है। 2 साल से काफी अच्छा रिकॉर्ड है, तो क्या करें?

उदय धूत :  सेटलमेंट रिकॉर्ड के कारण लोन मिलने में मुश्किल आ सकती है। लोन के लिए 1 साल तक और इंतजार करना पड सकता है, लेकिन जिस बैंक में आपका खाता है वहां से आपको लोन मिलने में काफी आसानी हो सकती है।

सवाल : क्रेडिट कार्ड का पेमेंट चेक से करने के बावजूद अब भी बकाया दिख रहा है। शिकायत करने पर भी कुछ नहीं हुआ? 

उदय धूत :  अगर कस्टमर केयर में शिकायत करने पर कोई फायदा नहीं हो रहा है तो एसबीआई बैंक का एक स्पेशल क्रेडिट कार्ड व्हिजन सेल है, वहां शिकायत दर्ज कर सकते हैं। अगर वहां से भी महीने भर में जवाब नहीं आता है तो आरबीआई के पास जा सकते हैं।     


सवाल :  पर्सनल लोन का 1.5 लाख रुपये बकाया है और 40 हजार रुपये प्री-पेमेंट करना क्या संभव है? साथ ही किस बैंक से हाउसिंग लोन लेना चाहिए?    

उदय धूत :  प्री-पेमेंट करने से पहले क्लॉज और पेनाल्टी चार्जेस की जानकारी लेना जरुरी होता है। अगर पेनाल्टी चार्जेस ज्यादा हो तो रेगुलर ही हफ्ते भरते रहें। रिपेंमेंट के लिए 1-2 फीसदी की पेनल्टी चार्जेस लगती है।  

हाउसिंग लोन के लिए बैंक की ओर से पहले पूरी जानकारी ली जाती है उसके बाद मंजूरी दी जाती है। इसलिए पहले अलग-अलग बैंक में जाना चाहिए और कितना लोन मिल रहा इसकी जानकारी लेनी चाहिए। उसके बाद अपने सहुलियत के अनुसार बैंक में लोन लेना चाहिए।


वीडियो देखें