Moneycontrol » समाचार » बीमा

नए वित्त वर्ष में समझें इंश्योरेंस की बारीकियां

प्रकाशित Thu, 05, 2018 पर 15:31  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

नए वित्त वर्ष की शुरूआत में योर मनी चाहता है दर्शक अपने आर्थिक जिम्मेदारियों को समझें और उसे अपने हाथ में लें। खासकर बीमा को लेकर हम चाहते हैं के आप सब ज्यादा जागरूक बनें, और इंश्योरेंस को सुरक्षा कवच की तरह खरीदें ना की मुनाफे के चक्कर में आकर रिटर्न को देखें। योर मनी पर हम इंश्योरेंस पर फोकस करेंगें आपको बताएंगें इंश्योरेंस खरीदने से पहले अहम बिंदू जो आपको ध्यान में रखने चाहिए और हमारा साथ देने के लिए मौजद हैं हर्षवर्धन रूंगटा।


हर्षवर्धन रूंगटा का कहना है कि बीमा पॉलिसी का चुनाव समझदारी से करें। इंश्योरेंस आर्थिक नुकसान के लिए कवर की तरह है और बीमा सुरक्षा कवच की तरह खरीदें। सही लाइफ इंश्योरेंस टर्म प्लान है। तमाम आर्थिक जिम्मेदारियां एक टर्म प्लान में कवर करना होता है।


हर्षवर्धन रूंगटा ने आगे बताया कि यूलिप में निवेश से बचें। यूलिप में एलटीसीजी का फायदा मिलेगा। यूलिप में रिटर्न म्यूचुअल फंड से कम होता है। यूलिप में निवेश और इंश्योरेंस एक साथ होता है। निवेश और इंश्योरेंस अलग-अलग रखें। उन्होंने आगे बतया कि पॉलिसी के प्रोपोजल फॉर्म ध्यान से भरें। मेडिकल पॉलिसी रिन्यू करें। जरूरत पड़ने पर कवर बढाएं और पॉलिसी के फ्री लुक पीरियड का फायदा उठाएं। प्रीमियम समय रहते भरें।