Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

सेंसेक्स 578 अंक उछलकर बंद, निफ्टी 10320 के पार

प्रकाशित Thu, 05, 2018 पर 15:41  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

अच्छे ग्लोबल संकेत और क्रेडिट पॉलिसी में दरों में बदलाव ना होने से बाजार में शानदार मजबूती देखने को मिली है। सेंसेक्स और निफ्टी 2 फीसदी तक मजबूत होकर बंद हुए हैं। आज निफ्टी 10300 के अहम स्तर को पार करने में कामयाब हुआ जबकि सेंसेक्स ने 33,600 को पार किया। आज के कारोबार में निफ्टी ने 10,331.8 तक दस्तक दी तो सेंसेक्स 33,637.5 तक पहुंचा था।


मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में भी जोश देखने को मिला है। बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 1.9 फीसदी बढ़कर बंद हुआ है। निफ्टी के मिडकैप 50 इंडेक्स में 2.5 फीसदी की मजबूती आई है। बीएसई का स्मॉलकैप इंडेक्स 1.9 फीसदी उछलकर बंद हुआ है।


बीएसई का 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 578 अंक यानि 1.75 फीसदी की तेजी के साथ 33,597 के स्तर पर बंद हुआ है। एनएसई का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 197 अंक यानि करीब 2 फीसदी की उछाल के साथ 10,325 के स्तर पर बंद हुआ है।


वैसे तो बाजार में आज चौतरफा खरीदारी का माहौल देखने को मिला लेकिन बैंकिंग, ऑटो, मेटल, रियल्टी, कैपिटल गुड्स, पावर और ऑयल एंड गैस शेयरों में जोरदार खरीदारी देखने को मिली। बैंक निफ्टी 2.6 फीसदी की उछाल के साथ 24,760 के स्तर पर बंद हुआ है। निफ्टी का मेटल इंडेक्स 4 फीसदी मजबूत होकर बंद हुआ है।


आज के कारोबार में दिग्गज शेयरों में हिंडाल्को, वेदांता, एसबीआई, बजाज फिनसर्व, टाटा मोटर्स डीवीआर, इंडियाबुल्स हाउसिंग, टाटा स्टील, आईसीआईसीआई बैंक और कोटक महिंद्रा बैंक 6.6-3.4 फीसदी तक बढ़कर बंद हुए हैं। हालांकि दिग्गज शेयरों में सिप्ला 1.7 फीसदी और भारती एयरटेल 0.3 फीसदी तक गिरकर बंद हुए हैं।


मिडकैप शेयरों में केनरा बैंक, जिंदल स्टील, बैंक ऑफ इंडिया, एलएंडटी फाइनेंस और पेज इंडस्ट्रीज 8.3-6.1 फीसदी तक उछलकर बंद हुए हैं। हालांकि मिडकैप शेयरों में वक्रांगी, अदानी एंटरप्राइजेज, एल्केम लैब, आदित्य बिड़ला फैशन और गृह फाइनेंस 5-0.5 फीसदी तक लुढ़क कर बंद हुए हैं।


स्मॉलकैप शेयरों में स्मार्टलिंक नेट, एमएसआर इंडिया, डी-लिंक इंडिया, वीआईपी इंडस्ट्रीज और टिनप्लेट 20-13.6 फीसदी तक मजबूत होकर बंद हुए हैं। हालांकि स्मॉलकैप शेयरों में स्ट्राइड्स शासून, वीएसटी टिलर्स, तलवलकर्स फिटनेस और टीसीपीएल पैकेजिंग 5.6-4.2 फीसदी तक टूटकर बंद हुए हैं।