Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

क्रेडिट पॉलिसी, आगे अच्छे दिनों के संकेत

प्रकाशित Thu, 05, 2018 पर 16:48  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

आज की क्रेडिट पॉलिसी नॉन इवेंट थी। आरबीआई ने दरों में कोई बदलाव नहीं किया है हलांकि उसने  ने आगे अच्छे दिनों की तस्वीर जरूर पेश की है। उसने आगे महंगाई घटने और ग्रोथ बढ़ने की उम्मीद जताई है। बाजार को जो दरों में बढ़ोतरी का डर सता रहा था वो भी आज आरबीआई की कमेंटरी के बाद कम हुआ है। इसी का जश्न बाजार में देखने को मिला। हलांकि आम लोगों के हाथ मायूसी ही लगी। सस्ते कर्ज का इंतजार और बढ़ गया है। बड़ा सवाल ये है कि क्या महंगाई का खतरा टल गया है और क्या आने वाले दिनों में रेट कट की उम्मीद बढ़ गई है।


रिजर्व बैंक ने क्रेडिट पॉलिसी में नीतिगत दरों में कोई बदलाव नहीं किया है। आरबीआई ने रेपो रेट 6 फीसदी और रिवर्स रेपो रेट 5.75 फीसदी पर बरकरार रखा है। कैश रिजर्व रेश्यो यानि सीआरआर भी 4 फीसदी पर बरकरार है।


आरबीआई ने महंगाई का अनुमान घटाया है। आरबीआई के मुताबिक वित्त वर्ष 2019 की पहली छमाही में महंगाई दर 4.7-5.1 फीसदी रह सकती है। इससे पहले आरबीआई ने वित्त वर्ष 2019 की पहली छमाही में महंगाई दर 5.1-5.6 फीसदी रहने का अनुमान जताया था। वित्त वर्ष 2019 की दूसरी छमाही में महंगाई दर 4.4 फीसदी रहने का अनुमान है। इससे पहले आरबीआई ने वित्त वर्ष 2019 की दूसरी छमाही में महंगाई दर 4.5-4.6 फीसदी रहने का अनुमान जताया था।


आरबीआई ने वित्त वर्ष 2019 में जीडीपी ग्रोथ 7.4 फीसदी रहने का अनुमान जताया है। आरबीआई ने फाइनेंशियल मार्केट के उतार-चढ़ाव और ट्रेड वॉर को लेकर चिंता जताई है। कच्चे तेल की कीमतों में उतार-चढ़ाव से भी अनिश्चितता का माहौल बने रहने की उम्मीद है।