Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

एयरलाइंस की लापरवाही पर ज्यादा मुआवजा!

प्रकाशित Sat, 07, 2018 पर 14:37  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

हवाई यात्रा करने वालों के लिए अच्छी खबर है। हवाई यात्रा की सेवाओं में कमी होने पर यात्रियों को ज्यादा मुआवजा मिल सकता है। विमानन मंत्रालय द्वारा बनाए जा रहे पैसेंजर चार्टर में इन बदलावों का सुझाव दिया गया है।


अब आपको फ्लाइट रद्द होने पर, सामान देर से या खराब हालत पर पहुंचने पर ज्यादा मुआवजा मिलेगा। विमानन मंत्रालय द्वारा बनाए जा रहे पैसेंजर चार्टर में ये सुझाव दिए गए हैं। मंत्रालय नियमों को पैसेंजर के अनुकूल बनाने पर ध्यान दे रहा है। फिलहाल सिर्फ सामान खोने पर ही मुआवजा मिलता है लेकिन अब विमानन मंत्रालय सामान की देरी पर भी मुआवजे के प्रावधान पर विचार कर रहा है। जानकारों का मानना है कि मुआवजे के नियमों में बदलाव करना जरूरी है जिससे यात्रियों को आज के हिसाब से नुकसान की भरपाई हो सके।


फिलहाल घरेलू उड़ानों में सामान खोने, देरी या डैमेज के लिए 20,000 रुपये तक और इंटरनेशनल फ्लाइट में 10,000 रुपये तक मुआवजा मिलता है। लेकिन अब मंत्रालय इसे बढ़ाकर 3,000 रुपये प्रति किलो करने पर विचार कर रहा है। इसके अलावा मंत्रालय फ्लाइट में देरी होने पर मुआवजा बढ़ाने की सोच रहा है। फिलहाल एयरलाइंस 2 घंटे से ज्यादा की देरी पर यात्रियों को मुआवजा देती है। अब एयरलाइंस को 3,000-20,000 रुपये तक यात्रियों को मुआवजा देना पड़ सकता है। साथ ही अगर कोई एयरलाइंस बिना सही वजह बताए यात्री को फ्लाइट में चढ़ने से रोकती है तो उसे 5,000 रुपये तक हर्जाने की भरपाई करनी पड़ सकती है। इन नियमों के बाद जहां एक तरफ एयरलाइंस पर लगाम लगेगी वहीं यात्रियों को राहत मिलेगी।