Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

बैन बेअसर, धड़ल्ले से बिक रहा प्लास्टिक!

प्रकाशित Thu, 12, 2018 पर 09:10  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

पर्यावरण की सुरक्षा के लिए महाराष्ट्र सरकार ने प्लास्टिक बैन तो कर दिया पर अभी तक इसे पूरी तरह से लागू करने में सरकार नाकाम रही हैं। कितना इफेक्टिव हैं महाराष्ट्र में प्लास्टिक बैन आइए इसका जायज़ा लेते हैं। महाराष्ट्र पर्यावरण मंत्रालय को प्लास्टिक बैन पर फरमान जारी किए हुए आधे महीने से ज्यादा वक्त बीत चुका हैं। पर ये बैन कितना असरदार हैं इसका जायज़ा लेने जब सीएनबीसी-आवाज़ की टीम मुम्बई की सड़कों पर निकली तो हकीकत में कुछ और ही नज़ारा देखने को मिला।


23 मार्च को जारी की गई सरकारी नोटिफिकेशन में पूरे राज्य में प्लास्टिक के उत्पादन, इस्तेमाल, संग्रह, वितरण, थोक या फुटकर बिक्री और आयात पर पूरी तरह बैन है और ये तत्काल प्रभाव से लागू है। बावजूद इसके प्लास्टिक का इस्तेमाल खुलेआम हो रहा है। इस बीच राज्य सरकार ने प्लास्टिक मटेरियल के पहले से पड़े स्टॉक के लिए 1 महीने की छूट दे रखी हैं और सूत्रों के मुताबिक इसे 23 जून तक बढ़ाया जा सकता हैं। हांलाकि ये छूट सिर्फ प्लास्टिक पैकेजिंग को राज्य के बाहर भेजने या फिर राज्य में ही किसी कलेक्शन सेंटर पर जमा कराने के लिए है। वैसे राज्य सरकार इस वक्त कड़ी कार्रवाई से बच रही है और उसका फोकस प्लास्टिक पर जागरूकता फैलाने पर है।


कहने को महराष्ट्र में प्लाटिक 23 मार्च से पूरी तरह से बैन हैं। प्लाटिक की थैलियों से लेकर प्लाटिक कप्स, प्लेट्स , स्पून यह तक कि स्ट्रॉ भी बैन हैं। बावजूद इसके नियमों को ताक पर रखकर प्लास्टिक का धड़ल्ले से इस्तेमाल किया जा रहा हैं यानी की महाराष्ट्र सरकार की प्लास्टिक बैन फिलहाल कागजी हैं।