Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

बढ़ी बुकिंग, होटल कारोबार के आए अच्छे दिन

प्रकाशित Sat, 14, 2018 पर 16:59  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

छुट्टियों की प्लानिंग में होटल रूम की बुकिंग पहले कर लें। अच्छे कारोबार और डिमांड के चलते दिल्ली, मुंबई में होटलों की ऑक्यूपेंसी बढ गई है। 2018 में होटलों को अच्छे बिजनेस की उम्मीद है। दिल्ली, मुंबई पर्यटकों और बिजनेस की पसंदीदा जगह माने जाते हैं। जिसके चलते हर बड़ा होटल ब्रांड इन शहरों में अपनी प्रॉपर्टीज खड़ी करता है। लंबी छुट्टी और अच्छे बिजनेस की वजह से दिल्ली, मुंबई के नामी होटलों की बुकिंग में जबरदस्त इजाफा हुआ है। 2018 की शुरूआत में ही होटलों की ऑक्यूपेंसी में बढ़ोतरी देखने को मिली है। जहां 2016-17 में दिल्ली में ऑक्यूपेंसी 70 फीसदी और मुंबई में 75 फीसदी थी, वहीं 2018 के जनवरी-मार्च में दिल्ली, मुंबई के बड़े होटलों में करीब 80 फीसदी की ऑक्यूपेंसी रही है। लंबे समय तक होटल के कमरों की बुकिंग को ऑक्यूपेंसी कहा जाता है। 80 फीसदी ऑक्यूपेंसी का मतलब है कि ब्रांडेड होटलों में हफ्ते के ज्यादातर दिन कमरे बुक रहे हैं।


ज्यादा ऑक्यूपेंसी होटल इंडस्ट्री के कारोबार में अच्छी डिमांड का संकेत होता है। हालांकि होटल इंडस्ट्री का कहना है कि बढती डिमांड का असर फिलहाल होटल की कीमतों पर नहीं पड़ेगा। लेकिन आने वाले समय में अच्छी डिमांड का असर कीमतो पर देखने को मिल सकता है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि पहले के मुकाबले अब नए होटल कम खुल रहे हैं, इससे पुराने होटलों को फायदा मिला है।


एचवीएस रिपोर्ट के मुताबिक मार्च 2017 में दिल्ली में नए होटल रूम 1.1 फीसदी की दर से ही बढे हैं। जबकि पिछले कुछ सालों में ये 5.3 फीसदी की दर से बढ़ रहे थे। वहीं मुंबई में पिछले 10 साल के 5.3 फीसदी की दर के मुकाबले नए होटल रूम 3.4 फीसदी की दर से बढे हैं। एक्सपर्ट्स का मानना है कि नए होटलों की बढोतरी में कमी के चलते नामी होटलों की डिमांड बढ रही है और डिमांड सप्लाई में ताल मेल के चलते 2018 में भी इनका कारोबार अच्छा रहेगा।