Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

डेल का लापरवाह रवैया, पहेरदार से की शिकायत

प्रकाशित Mon, 14, 2018 पर 14:09  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सीएनबीसी-आवाज़ पर आने वाला टीवी का सबसे बड़ा कंज्यूमर शो पहरेदार ग्राहक की आवाज़ बुलंद करता है और लड़ता है ग्राहक के हक की लड़ाई। जब कंपनियों की मनमानी के सामने कंज्यूमर झुकने लगता है, तब उनके हक की आवाज़ लेकर पहरेदार करता है कंपनी से सवाल और कंपनी को देना होता है जवाब।


पहरेदार के जरिए उन लोगों को इंसाफ मिल पाता है जो कंपनियों के अड़ियल रवैये के चलते उन जरूरी सर्विसेज से महरूम रह जाते हैं जो उनका हक है। पहरेदार उन कंपनियों को भी सबक सिखाता है जो वादे तो कर देती हैं लेकिन उन्हें पूरे करने में आनाकानी करती हैं।


इस बार हमारे रडार पर है डेल का लापरवाह रवैया। अंबाला के प्रदीप कुमार का कहना है कि 27 जून 2017 को लैपटॉप खरीदा था। फरवरी 2018 से लैपटॉप में परेशानी आनी शुरु हुई। दरअसल, लैपटॉप बिना चार्ज पर लगाए नहीं चलता था। सर्विस सेंटर से कई बार संपर्क किया। करीब 15 दिन बाद कंपनी की टीम आई और लैपटॉप का मदरबोर्ड, बैटरी और हार्ड डिस्क में खराबी बताते हुए लैपटॉप की बैटरी और हार्ड डिस्क बदला गया, लेकिन मदरबोर्ड बदलने के बाद भी लैपटॉप खराब रहा। तीसरी बार भी मदरबोर्ड बदलने की कोशिश नाकाम रही।


प्रदीप कुमार ने आगे बताया कि कंपनी से प्रोडक्ट के रिप्लेसमेंट के लिए कहा गया तो कंपनी ने रिफंड देने से भी इनकार कर दिया, लेकिन पहरेदार के असर से कंपनी की और से रोजाना ई-मेल आने लगी। सीनियर मैनेजमेंट ने भी बात की और कंपनी ने रिप्लेसटमेंट की गुजारिश को मान भी लिया है। कंपनी ने कंज्यूमर को लिखित में नया प्रोडेक्ट देने की जानकारी देते हुए 15-20 दिन में लैपटॉप देने का वादा किया है।


पहरेदार की पहल के बाद डेल कंपनी ने अपने लिखित जवाब में पहरेदार से कहा कि कंपनी की कोशिश है कि कंज्यूमर को कोई परेशानी ना आए जिसके लिए आफ्टर सेल्स टीम लगातार कंज्यूमर से संपर्क में रहती है। साथ ही कंपनी किसी भी तरह के फीडबैक का स्वागत करती है।