Moneycontrol » समाचार » कमोडिटी खबरें

कलर कोडिंग पर एफएसएसएआई और चीनी कंपनियों में ठनी

प्रकाशित Mon, 14, 2018 पर 15:58  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

चीनी बनाने वाली कंपनियां फूड रेगुलेटर एफएसएसएआई एक प्रस्ताव से नाराज हैं। ड्राफ्ट पॉलिसी के मुताबिक पैकेज्ड खाने-पीने का सामान बेचने वाली कंपनियों को सामान में ज्यादा चीनी, नमक या फैट होने पर पैकेट पर लाल रंग से निशान बनाना होगा। चीनी बनाने वाली कंपनियों का कहना है इससे उनके कारोबार पर असर पड़ेगा और लोगों में चीनी के इस्तेमाल को लेकर गलत संदेश जाएगा। चीनी उत्पादकों के संगठन इस्मा का कहना है कि कलर कोडिंग से चीनी की मांग कम होने का डर है। इस्मा का ये भी कहना है कि चीनी से नुकसान का वैज्ञानिक आधार नहीं है, ‌चीनी खाने से स्वास्थ्य को नुकसान नहीं होता।