Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार खबरें

लागत घटने और मांग बढ़ने से फायदा: जेके पेपर

प्रकाशित Tue, 15, 2018 पर 14:11  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में जेके पेपर का मुनाफा 30.3 फीसदी बढ़कर 73 करोड़ रुपये रहा है। वित्त वर्ष 2017 की चौथी तिमाही में जेके पेपर का मुनाफा 56 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में जेके पेपर की आय 6.2 फीसदी बढ़कर 799 करोड़ रुपये रहा है। वित्त वर्ष 2017 की चौथी तिमाही में जेके पेपर की आय 752 करोड़ रुपये रही थी।
 
जेके पेपर की आय का 62 फीसदी हिस्सा अनकोटेड पेपर से आता है। अनकोटेड पेपर में इसका 27 फीसदी मार्केट शेयर है।


जेके पेपर की अनकोटेड पेपर उत्पादन क्षमता 2.92 लाख टन, कोटेड पेपर पेपर उत्पादन क्षमता 54000 टन, पैकेजिंग बोर्ड उत्पादन क्षमता 90000 टन है। कंपनी की कुल पेपर उत्पादन 4.55 लाख टन है। जेके पेपर के प्रेसिडेंट ए एस मेहता ने सीएनबीसी-आवाज़ से बात करते हुए कहा कि जनवरी-मार्च तिमाही पेपर इंडस्ट्री के लिए परंपरागत रुपये से अच्छी रहती है। कंपनी को इस तिमाही में अपनी कार्यक्षमता बढ़ाने और और लागत घटाने की कोशिशों का भी फायदा मिला है।