Moneycontrol » समाचार » बीमा

जानें इंश्योरेंस से जुड़ी अहम जानकारियां

प्रकाशित Sat, 22, 2011 पर 13:20  |  स्रोत : Moneycontrol.com

22 जनवरी 2010

सीएनबीसी आवाज़



जानते हैं इंश्योरेंस से जुडी समस्याओं पर मायइंश्योरेंसक्लब डॉट कॉम के सीईओ दीपक योहानन की सलाह -


सवाल : सैलरी 17,000 महीना है, एलआईसी की तीन पॉलिसी में कुल 2.5 लाख रुपये का निवेश किया है। साथ ही अपने लिए और पत्नी के लिए टर्म प्लान भी लेना है। कौन सा टर्म प्लान सबसे सस्ता और अच्छा होगा? पत्नी की उम्र 24 साल की है।  

दीपक योहानन : अभी बाजार में ढ़ेरों टर्म प्लान उपलब्ध है। ऑनलाइन में आईसीआईसीआई प्रुडेंशियल का आई- प्रोटेक्ट अच्छा प्लान है। जिसमें 30 साल के लिए 30 लाख रुपये के कवर का प्रीमियम 3,600 रुपये होगा। अगर ऑफलाइन प्लान लेना है, तो अविवा का प्लान किया जा सकता है। जिसका प्रीमियम करीब 3600 रुपये होगा। फिलहाल पत्नी के नाम पर टर्म प्लान नहीं लिया जा सकता है। 


सवाल : पति ढाई साल में रिटायर होंगे, इसके बाद दोनों को हेल्थ इंश्योरेंस चाहिए। पति की उम्र 60 साल और मेरी 55 साल की है। कम से कम 10 लाख रुपये का इंश्योरेंस चाहिए। कौन सी अच्छी पॉलिसी होगी? 

दीपक योहानन :  60 साल पूरे करने के बाद पति इंश्योरेंस ले सकते है। 60 साल के बाद उन्हें कई रियायतें मिल सकती है। आप दोनों के लिए अपोलो म्युनिख और स्टार हेल्थ के प्लान अच्छे हैं। दोनों अलग-अलग 5-5 लाख रुपये के दो प्लान ले सकते हैं।  


सवाल : 1 साल पहले 50 रुपये लाख का टर्म प्लान लिया था, कवर बढ़ाकर 1 करोड़ रुपये करना है। मौजूदा पॉलिसी को कैंसिल कराकर नई पॉलिसी लेनी चाहिए? या 50 लाख रुपये का एक और प्लान लूं? 1 करोड़ का प्लान 50-50 लाख रुपये के दो प्लान से सस्ता लग रहा है। पॉलिसी कैंसिल कराई तो नया प्लान मिलने में मुशिक्ल तो नहीं होगी?

दीपक योहानन :  मौजूदा पॉलिसी में ही कवर बढ़ाना मुमकिन नहीं होगा। यदि टर्म प्लान बंद करेंगे तो पैसा वापस नहीं मिलेगा, लेकिन बंद करके 1 करोड़ रुपये का नया प्लान लेना सस्ता होगा। 50-50 लाख रुपये के दो प्लान लेंगे तो सालाना प्रीमियम ज्यादा पड़ेगा।     


सवाल
: परिवार के साथ 5 महीने के लिए यूएस जाना है, ओपीडी कवर किस इंश्योरेंस पॉलिसी में मिलेगा? जितनी भी पॉलिसी देखी उनमें किसी मे ओपीडी कवर नहीं है। क्या अमेरिका जाकर वहीं पर कोई इंश्योरेंस खरीद सकते है?

दीपक योहानन : भारत में ही पॉलिसी लेनी चाहिए। ज्यादातर कंपनियां धोखाधड़ी के डर से ओपीडी कवर नहीं देती। पॉलिसी के गलत इस्तेमाल से बचने के लिए कंपनियां को-पे चार्ज करती हैं।      


वीडियों देखें