Moneycontrol » समाचार » टैक्स

आपका टैक्स और टैक्स गुरु

प्रकाशित Sat, 29, 2011 पर 15:27  |  स्रोत : Moneycontrol.com

29 जनवरी 2011

सीएनबीसी आवाज़



टैक्स गुरु सुभाष लखोटिया
ने टैक्स छूट से जुड़े कुछ मसलों पर अपनी राय दी है।


एचआरए पर टैक्स छूट

टैक्स गुरु सुभाष लखोटिया का कहना है कि अगर पति-पत्नि दोनों एचआरए का लाभ लेना चाहते हैं तो आयकर की धारा 64 के तहत क्लबिंग का प्रावधान ध्यान रखना होगा। अगर पति घर की ईएमआई का भुगतान कर रहा है तो इसमें पत्नि को भी कुछ हिस्सा देना होगा। इसके बाद ही पति कार्यालय द्वारा मिलने वाले एचआरए का लाभ ले सकता है। अगर पत्नि गृहणी है और उसकी कोई आय नहीं है तो वह पति से उधार लेकर ईएमआई का हिस्सा दे सकती है।


न्यू पेंशन स्कीम पर टैक्स छूट


टैक्स गुरु के मुताबिक आयकर की धारा 80 सीसीडी के तहत नौकरीपेशा लोगों के लिए न्यू पेंशन स्कीम में निवेश करने पर टैक्स छूट मिल सकती है। नौकरीपेशा लोगों को आमदनी के अधिकतम 10 फीसदी पूंजी पर कर में छूट मिलेगी। इसके अलावा अपना कारोबार करने वाले व्यक्ति भी एनपीएस में पूंजी जमा कर सकते हैं, ऐसे लोगों को भी कुल आय के 10 फीसदी रकम पर टैक्स छूट मिलेगी।



नौकरीपेशा लोगों के लिए एक फायदा ये भी है कि अगर उनका नियोक्ता कर्मचारियों की आय का कुछ हिस्सा एनपीएस में जमा करता है तो उस राशि के 10 फीसदी पर भी टैक्स छूट मिल सकती है। इस तरह नौकरीपेशा व्यक्तियों को न्यू पेंशन स्कीम में कुल 20 फीसदी तक की रकम पर टैक्स छूट मिल सकती है।



न्यू पेंशन स्कीम में निवेश किया है तो इस अकाउंट से पैसे निकालने पर टैक्स लगेगा। न्यू पेंशन स्कीम खाते में से अत्याधिक जरूरत होने पर ही पैसा निकालना चाहिए।



इंफ्रास्ट्रक्चर बॉन्ड पर टैक्स छूट

टैक्स गुरु के मुताबिक इंफ्रास्ट्रक्चर बॉन्ड में 1 लाख रुपये तक के निवेश पर टैक्स छूट मिलती है लेकिन एक बात का ख्याल रखना होगा कि इन बॉन्डों के छमाही ब्याज पर टैक्स देना होगा। इंफ्रा बॉन्ड के मैच्योरिटी पर मिलने वाली रकम टैक्स फ्री होगी लेकिन डीटीसी के बाद नियम में बदलाव की संभावना भी है।



वीडियो देखें