Moneycontrol » समाचार » बीमा

अपने सपनों के घर का कराएं बीमा

प्रकाशित Fri, 25, 2011 पर 16:02  |  स्रोत : Moneycontrol.com

23 मार्च 2011

सीएनबीसी आवाज़



आज कल जीवन बीमा, स्वास्थ्य बीमा के साथ-साथ कार इंश्योरेंस, ट्रैवल इंश्योरेंस की ओर लोग जागरुक हो गए हैं। लेकिन, लोग अपने सबसे बड़े एसेट यानी घर की बीमा करना भूल जाते हैं।



होम इंश्योरेंस में घर की चारदीवारी के अलावा कई सामान का बीमा किया जाता है, जैसे



- घरेलू उपकरण (वॉशिंग मशीन, माइक्रोवेव आदि)

- इलेक्ट्रोनिक उपकरण (टेलिविजन, डीवीडी प्लेयर

- फर्नीचर

- निजी एक्सिडेंट कवर

- पब्लिक लायबिलिटी

- कंटेंजेंसी किराया

 
होम इंश्योरेंस में आग, चक्रवात, तूफान, बिजली गिरना, एयरक्राफ्ट से टक्कर, बाढ़, आंधी, भूकंप जैसी प्राकृतिक आपदाओं से घर को हुए नुकसान को शामिल किया जाता है।



जानबूझकर किए नुकसान और युद्द में हुई घर की हानि को होम इंश्योरेंस में कवर नहीं किया जाता है। नकदी, गहनें, पेंटिंग्स, कलाकृतियां, एंटीक्स भी होम इंश्योरेंस के तहत कवर नहीं होते हैं।



किराएदार घर के बिना होम इंश्योरेंस के विकल्प के तहत मूल्यवान वस्तुओं का बीमा करवा सकते हैं। इसके अलावा कुछ बीमा कंपनियां होम इंश्योरेंस पर 10-20 फीसदी का ग्रुप डिस्काउंट भी देती हैं।



कई हाउसिंग कंपनियों ने होम लोन लेने के लिए होम इंश्योरेंस कराना जरूरी कर दिया है।

 
इस लेख के लेखक केतुल शाह चार्टर्ड अकाउंटेंट हैं और बैंकिंग, फाइनेंस और इंश्योरेंस मामलों के सलाहकार हैं।