Moneycontrol » समाचार » निवेश

राजेश भोजानी की म्यूचुअल फंड सलाह

प्रकाशित Sat, 26, 2011 पर 15:07  |  स्रोत : Moneycontrol.com

26 मार्च 2011

सीएनबीसी आवाज़



आईसीएफपी के सीईओ राजेश भोजानी के मुताबिक म्यूचुअल फंड में निवेश करने वाले निवेशकों को बाजार के उतार-चढ़ाव से घबराए बिना नियमित निवेश करते रहना चाहिए। लगातार निवेश करते रहें तो म्यूचुअल फंड में अच्छे रिटर्न कमाए जा सकते हैं।



आदर्श पोर्टफोलियो बनाने के लिए डाइवर्सिफाइड फंड, ग्रोथ फंड, बैलेंस्ड फंड में निवेश किया जा सकता है। पोर्टफोलियो में डेट फंड भी शामिल करना चाहिए। पोर्टफोलियो की पूंजी का 10 फीसदी हिस्सा सोने में निवेश किया जा सकता है। सोने में किया गया निवेश पोर्टफोलियो को स्थिरता दे सकता है।



राजेश भोजानी के मुताबिक लंबी अवधि में इक्विटी में बेहतर रिटर्न मिल सकते हैं। पिछले 15 सालों में सेंसेक्स ने करीब 17 फीसदी का रिटर्न दिया है।



नए निवेशकों को सेक्टोरियल फंड में निवेश नहीं करना चाहिए। जब तक सेक्टर के बारे में पुख्ता जानकारी ना हो तब तक सेक्टोरियल फंड में निवेश से बचना चाहिए। बैलेंस्ड फंड में निवेश करने से जोखिम कम होता है।



राजेश भोजानी के मुताबिक एचडीएफसी प्रूडेंस फंड, बिड़ला सनलाइफ, फ्रंटलाइन इक्विटी फंड, डीएसपी ब्लेकरॉक इक्विटी फंड, एचडीएफसी टॉप 200 में निवेश किया जा सकता है। इन फंडों का अभी तक का प्रदर्शन अच्छा रहा है। निवेशक आर्थिक सलाहकार की राय लेकर इनमें से पोर्टफोलियो के लिए सही फंड चुन सकते हैं।



राजेश भोजानी के मुताबिक पोर्टफोलियो के फंड में बार बार बदलाव करना ठीक नहीं है। पहले से ही निवेश की सही रणनीति बनाकर फंड चुनें और लगातार निवेश करते रहें। म्यूचुअल फंड में निवेश के साथ सही बीमा कराना भी जरुरी है।



वीडियो देखें