Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स गुरु: आयकर से जुड़े सवाल-जवाब

प्रकाशित Sat, 28, 2011 पर 11:37  |  स्रोत : Moneycontrol.com

28 मई 2011

सीएनबीसी आवाज़



टैक्स गुरु सुभाष लखोटिया सुलझाएंगे पाठकों की आयकर से जुड़ी परेशानियां

आयकर रिटर्न के नए नियम

1 जून 2011 से आयकर रिटर्न के नए नियम लागू होने वाले हैं। इसके तहत 5 लाख रुपये से कम सालाना आमदनी वाले कर्मचारियों को आयकर रिटर्न भरने की जरुरत नहीं होगी।

इस नियम के फायदा तभी मिलेगा जब कर्मचारी अपनी अन्य आय पर भी एम्पलॉयर से टीडीएस कटवाए। साथ ही, वेतन और अन्य आय 5 लाख रुपये से कम होनी चाहिए।


घर खरीदने के दौरान टैक्स बचत

पति-पत्नी एक साथ मिलकर घर खरीदते हैं तो इस पर दोनों ही टैक्स छूट का फायदा उठा सकते हैं। पति-पत्नी होम लोन के ब्याज पर अलग-अलग 1.5-1.5 लाख रुपये तक की टैक्स छूट का फायदा ले सकते हैं।

इसके अलावा अगर आपने घर खरीदने के लिए बैंक के बजाए पिता से कर्ज लिया है तो इस पर भी टीडीएस नहीं कटेगा और आप टैक्स बचत के रूप में कुछ और रकम बचा सकते हैं।

कंपनी से मिले शेयर पर कैसे बचाएं टैक्स

अगर कर्मचारियों को कंपनी से डिस्काउंट भाव पर शेयर मिलते हैं तो आयकर सेक्शन 17(2) के प्रावधान के तहत टैक्स देना होगा। जिस भाव पर कंपनी से शेयर मिले और एलॉटमेंट के वक्त शेयर का बाजार भाव के अंतर पर टैक्स छूट का भुगतान करना होगा।

पति/पत्नी की मृत्यु होने की सूरत में कंपनी से मिलने वाले 10 लाख रुपये तक की ग्रेच्यूटी पर टैक्स छूट मिलेगी। पीपीएफ, ईपीएफ के तहत मिलने वाली आय पूरी तरह टैक्स मुक्त होगी। हालांकि लीव एन्कैशमेंट के तहत मिलने वाली 3 लाख रुपये तक की पूंजी पर ही टैक्स छूट हासिल कर सकते हैं । 3 लाख रुपये से ज्यादा लीव एन्कैशमेंट की पूंजी पर टैक्स देनदारी बनेगी।



एचयूएफ के लिए पार्टनरशिप नियम

सुभाष लखोटिया के मुताबिक 3 एचयूएफ मिलकर पार्टनरशिप फर्म बना सकते हैं और एक बिजनेस पार्टनरशिप डीड भी संचालित कर सकते हैं। इसके लिए ज्वाइंट फॉर्म में एक इंडीविजुअल को कर्ता बनाएं और उसके जरिए एचयूएफ फर्म में पार्टनरशिप लें। बिना कर्ता के एचयूएफ पार्टनरशिप फर्म में पार्टनर नहीं बन सकते हैं।


डीमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट अलग-अलग


पति-पत्नी को अपने डीमैट अकाउंट और शेयर ट्रेडिंग अकाउंट अलग अलग रखने होंगे। ऐसा ना करने पर क्लबिंग ऑफ इंकम का मामला हो सकता है और पति-पत्नी की आय एक दूसरे की आय में जोड़ी जा सकती है।


वीडियो देखें