Moneycontrol » समाचार » टैक्स

अपना मकान बेचो, टैक्स बचाओ

प्रकाशित Thu, 03, 2010 पर 15:28  |  स्रोत : Hindi.in.com

लोवाई नवलखी
आप कोई  संपत्ति खरीदते हैं और बेचना चाहते हैं, तो कैपिटल गेन टैक्स को मत भूल जाइएगा।

कैपिटल गेन व अन्य करों से निपटने के कई रास्ते हैं। अब देखते हैं कि इसका मतलब क्या है।
शार्ट टर्म कैपिटल गेन: अगर आप खरीदी के तीन साल से पहले कोई संपत्ति बेच रहे हैं तो उस पर शार्ट टर्म कैपिटल गेन लगेगा और उस साल की आमदनी में जुड़ जाएगा। तब आप अपनी टैक्स स्लैब पर आधारित टैक्स चुकाएंगे।

लांग टर्म कैपिटल गेन टैक्स : अगर आपने कोई संपत्ति तीन साल या उससे ज्यादा अवधि के लिए अपने पास रखी है तो यह संपत्ति लांग टर्म कैपिटल गेन असेट में आएगी। इस पर टैक्स की दर इंडेक्सेशन के बाद 20 फीसदी लागू होगी। लंबी अवधि के कैपिटल गेन टैक्स पर कर छूटें उपलब्ध हैं। टैक्स बचाने का तरीका यह हैः
•    बिक्री से दो साल के भीतर आप दूसरा घर खरीदते हैं तो आपको टैक्स में छूट मिल जाएगी। उसी रकम के बराबर की राशि नई संपत्ति में निवेश की जाती है तो कैपिटल गेन टैक्स से छूट मिल जाती है। शेष राशि बचती है तो उस पर लांग टर्म कैपिटल गेन टैक्स लगेगा।
•    रूरल इलेक्ट्रिफिकेशन कार्पोरेशन या नेशनल हाईवेज अथारिटी आफ इंडिया द्वारा जारी कैपिटल गेन बांड में निवेश कैपिटल गेन की तारीख से छह माह के भीतर करें।

नोट: ऐसे निवेश के लिए किसी भी वित्त वर्ष में सीमा 50 लाख रुपए है। संस्थाओं द्वारा बांड जारी करने की भी सीमा है। ये बांड पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर ही जारी किए जाते हैं।


टैक्स बचाने का ज्ञान

1. अगर आप प्लाट में निवेश कर रहे हैं तो मूल संपत्ति की बिक्री के दो साल के भीतर इसमें निवेश करें। खरीदे प्लाट पर आपको मकान बनाने का एक और साल मिलेगा, लेकिन निर्माण कार्य बिक्री के तीन साल के भीतर पूरा हो जाना चाहिए।
2. अगर आप कोई अपार्टमेंट खरीदना चाहते हैं तो मूल संपत्ति की बिक्री के दो साल के भीतर यह निवेश करना होगा।

3. जो भी लाभ हो, उसे कैपिटल गेन के बैंक खाते में रिटर्न दाखिल करने की तारीख के भीतर जमा करें। संचयित ब्याज के साथ यह राशि बिक्री की तारीख के दो साल के भीतर निवेश करनी होगी।

एक उदाहरण देखिए: रघु ने 1 जनवरी 2006 को 80 लाख रुपए में बेचा। उसने 31 दिसंबर 2002 में यह 35 लाख रुपए में खरीदा था। कैपिटल गेन पर टैक्स इस प्रकार लगेगाः
बिक्री मूल्य:  80 लाख रुपए (ए)

अधिग्रहण की इंडेक्स्ड लागत : रु 38,91,499 (35,00,000x497/447)* (बी)

वित्त वर्ष 2005-06 में लांग टर्म कैपिटल गेन टैक्स की रकम: A - B =  रु 41,08,501

* वित्त वर्ष 2002-03 में मुद्रास्फीति इंडेक्स की लागत 447 है। वित्त वर्ष 2005-06 में यह लागत 497 है। खरीदी की लागत में बिक्री के साल के मुद्रास्फीति इंडेक्स का गुणा किया जाता है और खरीदी के साल की मुद्रास्फीति इंडेक्स का भाग दिया जाता है। इससे अधिग्रहण की इंडेक्स्ड लागत निकल आती है।

मूलतः आप इस लाभ का निवेश कैपिटल गेन बांड्स या किसी और आवासीय संपत्ति में कर सकते हैं ताकि टैक्स छूटों का लाभ मिल सके। रघु ने एक और घर तलाशा जिसमें 30 लाख रुपए के निवेश की जरूरत है। यह मकान 21 जनवरी 2007 में पूरा हो गया था।

तीस लाख रुपए की यह रकम कैपिटल गेन सेविंग खाते में रिटर्न दाखिल करने के पहले जमा करनी होगी। जो रकम निवेश नहीं की जाएगी वह 11,08,501 रुपए है और इस पर कैपिटल गेन टैक्स लगेगा। जब रघु 2005-06 का रिटर्न दाखिल करेगा तब उसे टैक्स चुकाना होगा।

टिप्स
•    रघु के मामले में यह छूट इसलिए हासिल थी क्योंकि उसने मकान तीन साल से ज्यादा समय तक रखा।
•    अधिकतम छूट बिक्री से प्राप्त कैपिटल गेन पर निर्भर रहता है।
•    नया मकान पुराने मकान की बिक्री की तारीख से दो साल की अवधि के भीतर खरीदना होगा।

एक बार नया मकान खरीदने के बाद आपको यह कम से कम तीन साल तक अपने पास रखना चाहिए। अन्यथा पहले कैपिटल गेन टैक्स में मिल रही छूट खत्म हो जाएगी और टैक्स लगेगा। आपको ब्याज व पेनाल्टी भी चुकाने होंगे।