Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

फाइनेंशियल प्लानिंग पर सलाह

प्रकाशित Sat, 18, 2011 पर 12:27  |  स्रोत : Moneycontrol.com

18 जून 2011

सीएनबीसी आवाज़



ऑप्टिमा मनी मैनेजर के सीईओ पंकज मठपाल बता रहे हैं किस तरह करें फाइनेंशियल प्लानिंग, जो आपके भविष्य को बनाए बेहतर।


सवाल: मैं फिलहाल 7 फंड्स में निवेश कर रहा हूं। प्रति महीने 10,000 रुपये की एसआईपी है, 30 साल में 2.5 करोड़ रुपये की जरूरत पड़ेगी। क्या मौजूदा निवेश से लक्ष्य हासिल हो पाएगा ?


पंकज मठपाल: पोर्टफोलियो में 5 से ज्यादा फंड रखना ठीक नहीं, कम रिटर्न देने वाले 2 फंड से पैसा निकालकर बाकी फंड्स में निवेश करें। वहीं लक्ष्य को हासिल करने के लिए महंगाई और आय के हिसाब से एसआईपी की रकम समय-समय पर बढ़ातें रहें।


सवाल: मेरी सैलरी 18,000 रुपये प्रति महीना है, 4 म्यूचुअल फंड में 4000 रुपये की एसआईपी कर रहा हूं। 15 साल में 25 लाख रुपये जुटाना चाहता हूं, लक्ष्य को हासिल करने के लिए क्या करें ?


पंकज मठपाल: फंड्स के रिटर्न के हिसाब से ही अपने लक्ष्य की सीमा तय करनी चाहिए। 4000 रुपये हर महीने की एसआईपी से 15 साल में 25 लाख रुपये जुटा पाना मुश्किल है। लक्ष्य को हासिल करने के लिए एसआईपी की रकम या फिर लक्ष्य की समय सीमा बढ़ाएं।


सवाल: मैने पत्नी के लिए एलआईसी की एंडोमेंट पॉलिसी ली है जिसका प्रीमियम 60,000 रुपये सालाना है, पॉलिसी का टर्म 25 साल है और पॉलिसी को 3 साल पूरे हो चुके हैं। क्या पॉलिसी बंद करके पीपीएफ या पेंशन स्कीम में पैसा लगाना ठीक रहेगा ?


पंकज मठपाल: आपके पास एलआईसी का एंडोमेंट प्लान है, जिसके साथ लंबी अवधि का लक्ष्य लेकर चलना चाहिए। पॉलिसी की कवर वैल्यू की समीक्षा करें और पॉलिसी को रोकने पर विचार करें। 3 साल में 1,80,000 रुपये निवेश कर चुके हैं, अब पॉलिसी को बंद कर किसी और प्लान में पैसे लगाना फायदेमंद नहीं होगा।


वीडियो देखें