Moneycontrol » समाचार » निवेश

कार्तिक जवेरी की म्यूचुअल फंड पर सलाह

प्रकाशित Sat, 16, 2011 पर 15:50  |  स्रोत : Moneycontrol.com

16 जुलाई 2011

सीएनबीसी आवाज़



म्यूचुअल फंड से जुड़े सवालों पर जानिए ट्रांसेड कंसल्टेंसी के सीईओ कार्तिक जवेरी की राय -



सवाल : एसआईपी के जरिए बिड़ला एसएल फ्रंटलाइन इक्विटी, एचडीएफसी मिडकैप ऑपरच्युनिटी, एचडीएफसी मिडकैप ऑपरच्युनिटी, एचडीएफसी टॉप 200, फिडेलिटी इक्विटी फंड में निवेश कर रहा हूं, क्या इन फंड्स में पैसे लगाने चाहिए और पैसे लगाने वक्त किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?     



कार्तिक जवेरी : आप के पास जो स्कीम है वो काफी अच्छी है लेकिन दिक्कत इस बात की है कि आप 7,000 रुपये की कुल रकम में से 6,000 रुपये आप डाइवर्सिफाइड फंड में डाल रहे हैं, इसका मतलब आपके पास एक ही मिडकैप स्कीम में जिसमें आप 1,000 रुपये डाल रहे हैं। अपने पोर्टफोलियो में मिडकैप फंड का एक्सपोजर बढ़ा सकते हैं।



अगर आप 4,000 रुपये डाइवर्सिफाइड फंड्स में लगाएं और बाकी 3,000 रुपये मिडकैप फंड्स में डालें तो बेहतर होगा। यहीं 2 फंड्स रखना अच्छी स्ट्रैटेजी बन सकती हैं। आप अतिरिक्त पैसा सेक्टोरियल फंड्स में डालकर फायदा कमा सकते हैं।    



सवाल : शॉर्ट टर्म डेट फंड्स में निवेश कैसा रहता है और ये फंड्स किनके लिए होते हैं।?



कार्तिक जवेरी : शॉर्ट टर्म फंड्स में छोटी अवधि में 4-7 फीसदी के रिटर्न की उम्मीद कर सकते हैं। इसमें कोई लॉक-इन नहीं होता है। लेकिन आजकल सभी फंड्स के अपने-अपने नियम होते हैं। किसी फंड्स में 3 महीने का लॉक इन होता है। अगर वक्त से पहले फंड से निकलते है तो एक्जिट लोड या पेनाल्टी देनी होती है।



सवाल :
29 साल की उम्र है। परिवार में पत्नि और 2 साल की बच्ची है। पोर्टफोलियो में रिलायंस रेग्युलर सेविंग बैलेंस फंड, आईडीएफसी प्रीमियर इक्विटी, एचडीएफसी प्रूडेंस इसके अलावा आईडीएफसी इंफ्रास्ट्रक्चर फंड है। क्या ये पोर्टफोलियो ठीक रहेगा या नहीं?


कार्तिक जवेरी : आपके सारे फंड्स डाइवर्सिफाइड है। एक जैसे फंड रखने की बजाय बैलेंस फंड को भी पोर्टफोलियो में शामिल करें। गोल्ड ईटीएफ में भी निवेश किया जा सकता है।


 


वीडियो देखें