Moneycontrol » समाचार » बीमा

इंश्योरेंस की उलझनों का हल

प्रकाशित Sat, 30, 2011 पर 11:46  |  स्रोत : Moneycontrol.com

30 जुलाई 2011

सीएनबीसी आवाज़



पॉलिसी बाजार डॉट कॉम के यशीष दहिया बता रहे हैं कौन सा इंश्योरेंस प्लान लेना होगा बेहतर ताकि भविष्य में होने वाली अप्रिय घटनाओं का कर सकें सामना।


सवाल: मैंने 5 साल पहले बिड़ला सनलाइफ फ्लेक्सी कैश फ्लो पॉलिसी ली थी। अब तक 50,592 रुपये का प्रीमियम भर चुका हूं। पॉलिसी में बने रहना चाहिए या फिर सरेंडर करना चाहिए ?


यशीष दहिया: संभवत: किसी भी इंश्योरेंस पॉलिसी में बने रहना चाहिए। किसी भी इंश्योरेंस पॉलिसी में 1 से 3 साल तक प्रीमियम चार्ज ज्यादा होता और रिटर्न कम होता है। 3 से 5  साल की समय सीमा के बाद पॉलिसी में बेहतर रिटर्न देखे जा सकते हैं। 5 साल तक पॉलिसी का प्रीमियम भरने के पश्चात पॉलिसी से निकलने का फैसला गलत होगा।


सवाल: मैं जिस कंपनी में कार्यरत हूं वहां से इंश्योरेंस कवर मिला हुआ है। क्या कोई और टर्म प्लान लेने की जरूरत है। साथ ही ये बताएं क्या कोई नई पॉलिसी लेते समय इंश्योरेंस कंपनी को पुरानी पॉलिसी की जानकारी देनी चाहिए ?


यशीष दहिया: कंपनी की ओर से मिला इंश्योरेंस कवर टर्म प्लान नहीं होता है। वह एक एक्सिडेंटल कवर प्लान होता है। साथ कंपनी की ओर से मिले इंश्योरेंस कवर में केवल सड़क हादसे में हुई मौत पर कवर मिलता है। वहीं टर्म प्लान में किसी भी तरीके से मौत होने पर कवर मिलता है। कंपनी के इंश्योरेंस कवर के अलावा अलग से टर्म प्लान लेना चाहिए। साथ ही कोई भी नई पॉलिसी लेते समय इंश्योरेंस कंपनी को पुरानी पॉलिसी के बारे में जरूर बताएं, इससे क्लेम मिलने में आसानी होती है।


सवाल: मेरी उम्र 28 साल है। क्या इंश्योरेंस का प्रीमियम बढ़ती उम्र के हिसाब से बढ़ता है। यदि उम्र के मुताबिक प्रीमियम की रकम बढ़ती है तो किस स्तर पर सबसे ज्यादा प्रीमियम देना होता है ?


यशीष दहिया: इंश्योरेंस पॉलिसी हर साल प्रीमियम में बढ़ोतरी होती है। पुरुषों में 40 साल और महिलाओं में 42 साल की उम्र में प्रीमियम में सबसे ज्यादा बढ़ोतरी होती है। वहीं 25 से 40 साल की उम्र तक पॉलिसी का प्रीमियम डबल हो जाता है।


वीडियो देखें