कैसे बचाएं कार इंश्योरेंस पर प्रीमियम -
Moneycontrol » समाचार » बीमा

कैसे बचाएं कार इंश्योरेंस पर प्रीमियम

प्रकाशित Sat, 30, 2011 पर 15:41  |  स्रोत : Moneycontrol.com

30 जुलाई 2011

रुपीटॉक डॉटकॉम



कार खरीदना और उसे मेंटेन करना काफी खर्चीला काम है। अगर आप भी उन लोगों में से हैं जिनसे इंश्योरेंस कंपनियां कार इंश्योरेंस के प्रीमियम के नाम पर भारी रकम वसूल रही हैं। आपको इस लेख को पढने के बाद पता चल जाएगा कि आप कार इंश्योरेंस प्रीमियम के रूप में जाने वाली बड़ी रकम का खर्च कैसे घटा सकते हैं।



सुरक्षा मानकों का पालन करें

एंटी थेफ्ट सिस्टम्स, एयरबैग्स, एंटी लॉक ब्रेक के जरिए आप अपने कार के चोरी होने के खतरे को काफी हद तक कम कर सकते हैं। अगर आपने ये सभी डिवाइस अपनी कार में लगा रखी हैं तो आपकी कार इंश्योरेंस कंपनी प्रीमियम भी कम वसूलेगी, क्योंकि आपके कार के चोरी होने का खतरा भी कम हो गया है और आपके क्लेम करने की संभावना भी घट गई है।



सुरक्षित तरीके से गाड़ी चलाने की आदत बनाएं-

कार इंश्योरेंस कंपनियां पॉलिसी जारी करने से इस बात की जांच करती है कि आप कितनी सुरक्षित तरीके और सही तरीके से गाडी़ चलाते हैं। अगर आपके किसी सर्टिफाइड ड्राइविंग स्कूल का सर्टिफिकेट है तो इस बात को निश्चित रहा जा सता है कि आप सही तरीक से गाड़ी चलाना जानते हैं।



वहीं दूसरी तरफ अगर आपने पहले कोई एक्सीडेंट किया है तो आपसे प्रीमियम के रूप में थोड़ी ज्यादा रकम वसूल सकती हैं। अगर गाड़ी चलाने के इतिहास काफी साफ-सुथरा है और पिछले 8-10 महीने से आपने कोई एक्सीडेंट नहीं किया है तो आपको इसका फायदा मिल सकता है। आप अपने कार इंश्योरेसं एजेंट से कह सकते हैं कि आपको कम प्रीमियम पर अच्छी कार इंश्योरेंस पॉलिसी दिलाने का इंतजाम करे।



ऑनलाइन कार इंश्योरेस पॉलिसी खरीदें

कार बीमा खरीदने के लिए ऑनलाइन पॉलिसी खरीदने के जरिए भी आप प्रीमियम में बचत कर सकते हैं। ऑफलाइन की बजाए ऑनलाइन पॉलिसी खरीदने पर आपकी सस्ती दरों पर कार इंश्योरेंस पॉलिसी मिल सकती है। डिस्ट्रीब्यूशन चार्ज घटने और कमीशन चार्ज खत्म होने के चलते आपको बीमा कंपनियां भी फायदा देती हैं। हालांकि आपको ख्याल रखना चाहिए कि आपने पॉलिसी लेने के लिए सभी जानकारी सही-सही भरी हों, वर्ना क्लेम के समय आपको काफी दिक्कत हो सकती है और आपका क्लेम खारिज भी हो सकता है।



व्हीकल एसोसियेशन के सदस्य बने हैं तो

अगर आप अपने क्षेत्र की किसी जानी-मानी व्हीकल एसोसिएशन के सदस्य हैं तो भी आपसे कार प्रीमियम के रूप में कम रकम ली जा सकती है। ऐसा इसलिए क्योंकि इन एसोसिएशन का कार इंश्योरेंस कंपनियों के साथ टाइ-अप होता है, जिससे उनके सदस्यों को विशेष डिस्काउंट मिल सकता है। अगर आपने टाइ-अप वाली कंपनियों से कार बीमा नहीं भी लिया है तो भी आपको मेंबरशिप कार्ड पस्तुत करने पर 5 फीसदी तक का प्रीमियम तो ही बच सकता है। 5 फीसदी की बचत भी कुछ कम नहीं कही जा सकती है।



अच्छी मेंटेंनस के अच्छे फायदे

प्रीमियम बचाने का सबसे सुनहरा नियम ये है कि जितनी अच्छी हालत में आपका वाहन होगा उतना ही कम आपका वाहन प्रीमियम होगा। 



दूसरी तरफ जितनी ज्यादा गाडी़ आपने चलाई है (किलीमीटर में) और आपकी गाड़ी काफी अच्छी हालत में है तो इससे पता चलता है कि आप अपनी गाड़ी को कितना संभाल कर रख सकते हैं।



एक ही बीमा प्रदाता से कई बीमा पॉलिसी

अगर आपने उसी बीमा प्रदाता से पहले भी कोई पॉलिसी ले रखी है तो इस बात की काफी उम्मीद है कि आपको कार बीमा के लिए कम प्रीमियम का ऑफर दिया जाए। इस एग्रीमेंट के तहत अगल आप एक ही बीमा प्रदाता से हेल्थ और कार बीमा लेते हैं तो आपकी दूसरी पॉलिसी के प्रीमियम पर 25 फीसदी तक की कमी की जा सकती है। इसलिए आपको सलाह दी जा रही है कि आप अपने कार इंश्योरेस के लिए उसी बीमा प्रदाता के पास जाएं जिससे आपने पहले एक पॉलिसी ले रखी है।



प्रोफेशनल डिस्काउंट लें-


अगर आप बीमा कंपनियों द्वारा लिस्टेड कुछ खास व्यवसाय के दायरे में आते हैं तो आपको इसके तहत भी कार बीमा प्रीमियम पर कुछ डिस्काउंट मिल सकता है।



सामान्यतया डॉक्टरों, चार्टर्ड अकाउंटेंट, वकीलों और अध्यापकों को कंपनियां प्रीमियम में डिस्काउंट दे सकती हैं, हालांकि अलग-अलग बीमा कंपनियों की अलग-अलग प्रोफेशनल लिस्ट होती है इसलिए आप जांच लें कि आपकी बीमा कंपनी की प्रोफेशनल डिस्काउंट लिस्ट में आप हैं या नहीं।



डिडक्शन

कुछ बीमा कंपनियों आपसे प्रीमियम के साथ-साथ कुछ और शुल्क भी काटती हैं जिन्हें डिडक्शन कहा जाता है। कंपनियों का मानना है कि कार इंश्योरेंस करना के बाद ऐसा ना सोंचे कि सारी जिम्मेदारी खत्म हो गई।  कार का बीमा तो हो ही गया है, अब दुर्घटना होने पर क्लेम तो मिल ही जाएगा, इस सोच को रोकने के लिए डिडक्शन के रूप में आपसे भी कुछ पैसा वसूला जाता है। कंपनियां मानती है कि क्लाइंट को भी कुछ जोखिम उठाना चाहिए और इसके लिए पैसा देने के बाद ग्राहक अपनी कार को और सावधानी से चलाएंगे।