Moneycontrol » समाचार » बीमा

इंश्योरेंस की उलझनों का हल

प्रकाशित Sat, 27, 2011 पर 12:45  |  स्रोत : Moneycontrol.com

27 अगस्त 2011

सीएनबीसी आवाज़



पॉलिसी बाजार डॉटकॉम के सीईओ, यषीश दहिया सलाह दे रहे हैं कि कौन सा इंश्योरेंस प्लान आपके लिए होगा सबसे बेहतर, ताकि भविष्य में होने वाली आकस्मिक घटनाओं का आप सामना कर सकें।



सवाल:
मेरी उम्र 44 साल है। एलआईसी मेडिकल प्रोटेक्शन पॉलिसी कैसी है। एजेंट के जरिए जानकारी मिली है कि मेडिकल इंश्योरेंस के साथ साथ निवेश के लिए भी यह पॉलिसी बेहतर है, क्या ये जानकारी सही है?



यषीश दहिया: मेडिकल प्रोटेक्शन पॉलिसी यह हेल्थ पॉलिसी नहीं है। यह एक हॉस्पिटल कैश बैक पॉलिसी है। साथ ही कभी भी इंश्योरेंस और निवेश को एक साथ नहीं जोड़ना चाहिए। निवेश के लिए एसआईपी के जरिए म्यूचुअल फंड में पैसा लगाना बेहतर रहेगा। वहीं इंश्योरेंस के लिए फैमिली फ्लोटर प्लान लेना सही रहेगा।



सवाल: ऑनलाइन टर्म प्लान और ऑफलाइन टर्म प्लान में क्या अंतर होता है। ऑनलाइन टर्म प्लान कितना सुरक्षित है। क्या आगे इसमें क्लेम में कोई परेशानी आ सकती है।



यषीश दहिया: बाजार में ऑनलाइन टर्म प्लान आने से पिछले कुछ साल के दौरान टर्म प्लान काफी सस्ते हो गए हैं। ऑनलाइन टर्म प्लान लेना ज्यादा सुविधाजनक होता है। ऑनलाइन टर्म प्लान में प्रीमियम भी कम होता है। साथ ही एजेंट को कमिशन भी नहीं होता है। ऑनलाइन टर्म प्लान में क्लेम भी आसानी से हो जाता है बस मुहैया कराई गई सारी जानकारियां सही होनी चाहिए।



सवाल: मेरी उम्र 28 साल है, मैंने 5 साल पहले एलआईसी  की 2 मनी बैक पॉलिसी ली है जिसका सालाना प्रीमियम 8,034 रुपये है। पॉलिसी का लॉक इन पीरियड 10 साल का है। पॉलिसी के रिटर्न कुछ ठीक नहीं लग रहे हैं, सरेंडर करने पर कितना पैसा कटेगा?



यषीश दहिया: पॉलिसी को सरेंडर करने पर भरे हुए प्रीमियम पर 30 फीसदी सरेंडर चार्ज कटेगा। लेकिन पॉलिसी को सरेंडर करना ठीक नहीं रहेगा। 5 साल तक प्रीमियम भर चुके हैं। ऐसे में सरेंडर का  फैसला ठीक नहीं। पॉलिसी का लॉक इन पीरियड पूरा होने दें, उसके बाद सरेंडर किया जा सकता है।



वीडियो देखें