Moneycontrol » समाचार » बीमा

बीमा बेचने के 5 तरीके जिनमें फंसने से बचें!

प्रकाशित Mon, 12, 2011 पर 10:51  |  स्रोत : Moneycontrol.com

12 सितंबर 2011

Moneycontrol.com



सरकार कभी भी लाइफ इंश्योरेंस कंपनियों की बिक्री में गिरावट देखना नहीं चाहती है क्योंकि देश के जीवन बीमा कारोबार का 79 फीसदी एलआईसी (लाइफ इंश्योरेंस कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया) के पास है और इसकी मालिक सरकार खुद है।



इसके अलावा जीवन बीमा कंपनियों को सरकारी सिक्योरिटीज में निवेश करना जरूरी होता है। जैसे-जैसे सरकारी जेब में ज्यादा पैसा आएगा सरकार ब्याज दरों को कम रख सकती है। इसलिए समझ लें कि जहां म्यूचुअल फंडों में जीरो एंट्री लोड कर दिया गया है वहीं लाइफ इंश्योरेंस उत्पादों में कभी भी एंट्री लोड शून्य या खत्म नहीं हो सकता है।



जीवन बीमा एजेंट आपको पॉलिसी बेचने के लिए किन तरकीबों का इस्तेमाल करते हैं, इस पर एक नजर डालें तो बेहतर रहेगा।



1. सर, ये एक बढ़िया निवेश विकल्प है- बिल्कुल ही बकवास बात है- जीवन बीमा प्रोडक्ट जिसे चलाने के लिए शुल्क वसूले जाते हैं, कभी भी एक निवेश उत्पाद नहीं हो सकता है। जोखिम शुल्क, ऐसेट मैनेजमेंट चार्ज, वगैरह ये सभी लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी के साथ वसूले जाते हैं।



2. आपको मैडिकल टैस्ट नहीं कराने होंगे- ये सच है लेकिन इस तरह की पॉलिसी में जोखिम कवर बहुत कम होता है। पहले तो आपको कहा जाएगा कि आप पूरी तरह ठीक हैं लेकिन अगर भविष्य में आपको कुछ हो जाता है (मृत्यु) तो पूरी छानबीन होती है। आपके नॉमिनी को बता दिया जाएगा कि कोई बीमारी थी और इसके बारे में बीमा कंपनी को बताया नहीं गया था। तो आपके नॉमिनी को क्लेम नहीं मिलेगा। आखिरकार सभी लोगों के लिए एकजैसा अच्छा जीवन बीमा उत्पाद बनाना मुश्किल काम है और इसकी कीमत एक जैसा रखना भी। ये फिट लोगों के साथ नाइंसाफी हो सकती है।



3. आपको बढ़िया रिटर्न मिलेंगे- 15-18 फीसदी के बीच- जाहिर तौर पर किसी भी देश और कंपनी के लिए इस दर पर विकास करना लगभग असंभव है। जो उत्पाद बड़ी जनसंख्या के लिए चलाए जा रहे हों उनमें इतना रिटर्न देना मुश्किल है तो साफ तौर पर आपको झूठ बताया जा रहा है। 



4. इसमें निवेश करने के लिए ये आखिरी हफ्ता है- ये बीमा एजेंटो का वो झूठ है जो ज्यादातर लोगों पर काम कर जाता है। चाहे लोग पढे-लिखे, अनपढ़, स्त्री, पुरूष सभी इस चिंता में आकर कि इतनी बढिया स्कीम फिर नहीं मिलेगी, पॉलिसी खरीद लेते हैं।



5. सर ये एलआईसी का यूनिट लिंक्ड प्लान है, तो सरकार की तरफ से रिटर्न पक्का है- अगर आप इस बात पर यकीन करते हैं तो दुनिया में किसी भी बात पर विश्वास कर लेते होंगे। दुनिया में किसी भी यूलिप में गारंटीड रिटर्न नहीं मिल सकते हैं। अगर आप पारंपरिक यूलिप प्लान लेते हैं (एंडाओमेंट) तो आप गारंटीड रिटर्न हासिल कर सकते हैं। हालांकि ये सबसे कम दरों पर रिटर्न देते हैं। तो ये बात जान लें कि आप यूलिप प्लान किसी भी से लें, एसबीआई, एचडीएफसी, एलआईसी, आईसीआईसीआई। जोखिम पूरी तरह आप पर ही होगा तो सावधान रहें।