Moneycontrol » समाचार » निवेश

अधिकतम एनएवी पर आईआरडीए की नजर

प्रकाशित Sat, 24, 2011 पर 08:46  |  स्रोत : Moneycontrol.com

24 सितंबर 2011

सीएनबीसी आवाज़



गारंटीड एनएवी नाम पर हो रही बेईमानी पर अब आईआरडीए ने शिकंजा कसने का मन बना लिया है। आईआरडीए के मुताबिक गारंटीड एनएवी के नाम पर ग्राहकों को ठगा जा रहा है और ऐसे प्लान बेहद खतरनाक साबित हो सकते हैं।


आईआरडीए अधिकतम एनएवी के आधार पर रिटर्न देने वाले प्लान की समीक्षा करेगा। आईआरडीए के चेयरमैन जी हरिनारायण के मुताबिक आईआरडीए बाजार में मौजूद सभी अधिकतम एनएवी देने वाले प्रोडक्ट्स की पूरी जानकारी लेगा। साथ ऐसे प्रोडक्ट्स को लेकर कंपनियों की नीतियों की समीक्षा करेगा। ताकि ऐसे प्रोडक्ट्स लेने पर ग्राहकों को नुकसान ना उठाना पड़े।


पॉलिसी बाजार डॉटकॉम के उप-संस्थापक और सीईओ यशीष दहिया बता रहे हैं। किस तरह कंपनियां अधिककतम एनएवी के नाम पर ग्राहकों को लुभा रही हैं। और इसके क्या परिणाम हो सकते हैं। वहीं आईआरडीए का ये अहम कदम कितना कारगार साबित होगा।


गारंटीड शब्द का मतलब धोखा


यशीष दहिया के मुताबित जब भी किसी भी प्लान के साथ गारंटी शब्द जुड़ जाता है तो समझ लो उस प्लान में खामियां हैं। क्योंकि किसी भी प्लान में गारंटीड एनएवी का देने का दावा ये कंपनियां कैसे कर सकती हैं। कंपनियों के ये प्लान प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से बाजार के उतार-चढ़ाव से जुड़े होते हैं ऐसे में गारंटीड और अधिकतम एनएवी की बात करना बेईमानी लगती है।


यशीष दहिया का कहना है कि ज्यादातर प्लान की समय सीमा 10 साल के लिए होती है। जिसमें तीन, पांच या फिर दस साल तक प्रीमियम देना होता है। इस समय सीमा के दौरान प्लान की जो भी उच्चतम वैल्यू होती है वह मिल जाती है। इस प्रक्रिया में बाजार की भी अहम भूमिका होती है। जिसके प्लान की वैल्यू में भी उतार-चढ़ाव की संभावनाएं होती हैं। ऐसे में गारंटीड  एनएवी की भाषा बोलकर कंपनियां केवल ग्राहकों को लुभाने का काम कर रही हैं।


 


प्लान बेचने का जरिया


यशीष दहिया के मुताबिक इस समय बाजार में 8 से 9 कंपनियों के पास अधिकतम एएवी देने वाले गारंटीड प्लान हैं। इसमें एचडीएफसी, आईसीआईसीआई, बजाज और एसबीआई जैसे बड़े नामों का भी समावेश है। किसी भी प्रोडक्ट को बेचने के लिए गारंटीड और अधिकतम एनएवी जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया जा रहा है। जबकि इसके पीछे की सच्चाई कुछ और है।


आईआरडीए का कदम बेहद अहम


यशीष दहिया का कहना है बाजार में धड़ल्ले से बेचे जा रहे गारंटीड एनएवी वाले प्रोडक्ट्स को लेकर आईआरडीए द्वारा उठाए जाने वाले कदम बेहद अहम हैं। आईआरडीए की पहल के बाद ये कंपनियां ग्राहकों को हाईएस्ट एसेट वैल्यू के नाम पर ठग नहीं पाएंगी। वहीं आईआरडीए कंपनियों को गारंटीड एनएवी के प्लान को लेकर क्या निर्देश जारी करता है यह देखना बेहद अहम होगा।


वीडियो देखें