Moneycontrol » समाचार » निवेश

सही निवेश है सबसे बड़ी चुनौती

प्रकाशित Fri, 07, 2011 पर 14:06  |  स्रोत : Moneycontrol.com

moneycontrol.com



सही निवेश आज के दौर में बेहद जरूरी है। इसलिए किए गए निवेश की तुलना हमेशा दूसरे क्षेत्र के निवेश से करते रहना चाहिए। जिससे मिलने वाले मुनाफे का ज्ञात हो जाता है। साथ ही किया गया निवेश कितना बेहतर है इसकी भी जानकारी मिल जाती है।



हो सकता है इस काम में कई बार आपके मित्र कोई मदद ना करें और साथ आपके द्वारा किए गए निवेश की उपेक्षा भी करें। लेकिन आपने पैसे के सही जगह निवेश करना यह सबसे बड़ी चुनौती होती है। ऐसे में किस जगह निवेश करें इसकी जानकारी होना भी बेहद जरूरी होता है। क्योंकि मौजूदा दौर में बाजार में ऐसे कई इंस्ट्रूमेंट और प्रोडक्ट्स मौजूद हैं जो अधिक रिटर्न का झांसा देकर निवेशकों के पैसे से खिलवाड़ करते हैं।



अवधि पर रखे नजर



फिक्सड निवेश में अवधि की भूमिका सबसे अहम होती है। जो यह बताती है की कितने समय निवेश कर पाने आप सक्षम हैं। फंड्स पैसा लगाने और बैंक में पैसा जमा करना दोनों में काफी अंतर होता है। फंड्स में  किया गया निवेश एक निश्चित अवधि के लिए होता है, वहीं निश्चित की गई अवधि से पहले यदि पैसे को विड्रा करते हैं तो इसका चार्ज देना होता है। वहीं बैंक में किए गए निवेश में समय-समय पर अपने निवेश को खंगालने और विड्रा करने का भी विकल्प मौजूद होता है। जिसे निवेशक अपनी सुविधा के अनुसार इस विकल्प को चुनता है।



निवेश के खतरे से कैसे बचें



सरकारी बॉन्ड्स इत्यादि में निवेश करने से डिफॉल्ट का खतरा कम हो जाता है। सरकारी बॉन्ड्स में निवेश करने से का सबसे बड़ा फायदा यह है कि आपके निवेश का भविष्य तय हो जाता है। मैच्युरिटी के समय मिलने वाली राशि भी सुनिश्चित हो जाती है, जबकि बाजार में मौजूद दूसरे फंड्स ज्यादा रिटर्न का लोभ तो देते हैं लेकिन इस सुनिश्चिता के मापदंड पर खरा उतरने की गांरटी प्रदान नहीं कर पाते हैं। बाजार के उतार-चढ़ाव का खतरा इसमें शामिल है। वहीं मिलने अधिक रिटर्न का झांसा भी कई बार फेल हो जाता है। एक फाइनेंशियल प्लानर की हैसियत से मैं अपने निवेशकों को मैं सलाह देना चाहूंगा कि यदि अपने निवेश को सुरक्षित और सुनिश्चित करना है तो गिल्ट फंड में निवेश करें। आज के दौर में यह एक सुरक्षित निवेश है। इसे एक प्रकार का म्यूचुअल फंड ही कहा जाता है। जिसमें कई प्रकार के निवेश का विकल्प भी मौजूद है। साथ ही बाजार में मौजूद दूसरे फंड्स से बेहतर है जिसमें डिफॉल्ट का खतरा भी नहीं है।



फाइनेंशियल प्लानर की सलाह जरूरी



फाइनेंशिय प्लानर होने के नाते मैं निवेशकों को सलाह देना चाहूंगा कि वह बाजार के झांसों में ना पड़ते हुए शुरुआत से ही गिल्ट फंड में निवेश करें। आज के दौर में डेट मार्केट को समझ पाना आम व्यक्ति के बस की बात नहीं है। साथ ही इसके हथकंडों की आग में निवेशक कई बार अपने हाथ जला लेते हैं। गिल्ट फंड में निवेश से बाजार के खतरों से बचा जा सकता है। वहीं लंबी अवधि के निवेश से इसमें अच्छा रिटर्न भी कमाया जा सकता है। निवेशकों को इतनी जानकारी के बावजूद यदि उनका रूझान डेट फंड्स की ओर जाता है तो निवेश करने से पहले किसी फाइनेंशियल प्लानंक से सलाह जरूर लें ताकि आपके निवेश और भविष्य दोनों सुरक्षित रहें।



नोट:  इस लेख के लेखक इंटरनेशनल मनी मैटर्स के एमडी और चीफ फाइनेंशियल प्लानर लोवई नवलखी हैं।