पीपीएफ और बीमा में ज्यादा निवेश तो नहीं कर रहे आप - Moneycontrol
Moneycontrol » समाचार » निवेश

पीपीएफ और बीमा में ज्यादा निवेश तो नहीं कर रहे आप

प्रकाशित Thu, अप्रैल 01, 2010 पर 16:00  |  स्रोत : Hindi.in.com

कार्तिक झवेरी



पब्लिक प्राविडेंट फंड (पीपीएफ) और बीमा में धन लगाना ठीक है लेकिन आप दौलतमंद बनना चाहते हैं तो अपना नजरिया बदल लीजिए। सर्टिफाइड फाइनेंशियल प्लानर कार्तिक झवेरी ने एक पाठक धीरज को बताया कि कहां, कैसे और कितना निवेश करना चाहिए।

मैं 40 साल का हूं और मेरी दस साल की बेटी है। मैं जयपुर की एक निजी कंपनी में काम कर रहा हूं और सालाना 4 लाख का वेतन पाता हूं। मेरे ऊपर 6 लाख रुपए का फ्लोटिंग ब्याज दर वाला कर्ज है।
मेरे खर्च इस प्रकार हैं-
परिवार के खर्च     1.2 लाख रुपए सालाना
ईएमआई हाउसिंग लोन    90,000 रुपए सालाना

मेरे निवेश इस प्रकार हैं
एलआईसी, पीपीएफ        एक लाख रुपए सालाना

मेरी आशंकाएं-
शेयरों में धन लगाने को लेकर मुझे डर रहता है
मेरे पास आय का दूसरा कोई स्रोत नहीं है

मेरे संदेह-
अगले 10-15 साल में कहां निवेश करूं ताकि सेवानिवृत्ति के बाद मेरे पास पर्याप्त धन हो जाए।
-धीरज चौहान, जयपुर

आप अपने हाउसिंग लोन या घरेलू खर्च को लेकर समझौता नहीं कर सकते। अब हमारे पास जीवन बीमा (एलआईसी) और पीपीएफ ऐसे निवेश विकल्प हैं, जिसकी पुनररचना की जा सकती है। मेरी राय में तो आप एलआईसी और पीपीएफ में आप अपनी आय के हिसाब से ज्यादा निवेश कर रहे हैं।

हमें यह पता नहीं है कि आप एक लाख रुपए सालाना की निर्धारित रकम में से कितना पीपीएफ में निवेश कर रहे हैं और एलआईसी में कितना धन लगा रहे हैं। आइए इन प्रकरणों का अध्ययन करें-

केस 1 अगर आप पीपीएफ में ज्यादा निवेश कर रहे हैं।
आपकी स्थिति संभल सकती है। पीपीएफ एक अच्छा निवेश है लेकिन इस पर केवल आठ फीसदी प्रतिफल मिलता है। जबकि दौलत कमाना है तो आपकी रणनीति बदलनी होगी। आप और भी ज्यादा प्रतिफल कमा सकते हैं अगर आप सेवानिवृत्ति का विकल्प ध्यान में रखें।

मेरे सुझाव इस प्रकार हैं
1.    एलआईसी को छोड़कर बाकी सभी 80 सी के योगदान बंद कर दीजिए
2.    पीपीएफ खाते को जीवित रखने के लिए हर साल 1,000 रुपए जमा कीजिए
3.    म्यूचुअल फंडों की इक्विटी लिंक्ड सेविंग स्कीम (ईएलएसएस) में निवेश के लिए बाकी धन (एलआईसी प्रीमियम और 1,000 रुपए पीपीएफ हटाने के बाद एक लाख रुपए में से बची शेष राशि) का इस्तेमाल कीजिए। आपके पास 3 साल का लॉक इन होगा। आप 5-7 साल में अच्छा मुनाफा कमा पाएंगे।

केस 2 अगर आप बीमे में बहुत ज्यादा निवेश कर रहे हैं
मान लें कि आपकी पालिसी का चुकारा हो चुका है (यानी आप अपनी पालिसी के तीन साल पहले ही पूरे कर चुके हैं।) अगर तीन साल से कम अवधि है तो मानलें कि तीन साल पूरे होने तक आपको भुगतान करना है।
आपको एक विशेषज्ञ की राय इसमें लेनी चाहिए क्योंकि बीमा की राशि और प्रीमियम आदि मसले इसमें प्रभावी होते हैं।  
आपकी उम्र में 10 लाख रुपए की जीवन बीमा पालिसी में 5,000 से 6,000 रुपए सालाना से ज्यादा की लागत नहीं आनी चाहिए। मैं इस मामले में सावधि पालिसी का सुझाव दूंगा। बीमा के लिहाज से आदर्श स्तर 30 लाख रुपए है।

मेरे सुझाव इस प्रकार हैं-
सोना, रीयल एस्टेट जैसे विकल्पों को जीवन के उत्तरार्ध में अपनाना चाहिए।

कार्तिक झवेरी का जवाबः
आपको कहां निवेश करना चाहिए?
आपका आयकर 25,000 रुपए सालाना की रेंज में रहेगा। आपकी देनदारियों को देखते हुए लगता है कि आपके खर्च निकालने और सेक्शन 80सी में निवेश के बाद 7,000-8,000 रुपए हर महीने बचा सकते हैं।
आपको सिस्टेमेटिक इनवेस्टमेंट प्लानिंग (एसआईपी) का इस्तेमाल इक्विटी म्यूचुअल फंड में निवेश के लिए करना चाहिए। अगर आप 8,000 रुपए प्रति माह निवेश करते हैं तो आपके पास 15 साल में 54 लाख रुपए (इक्विटी निवेश में 15 फीसदी प्रतिफल की दर से हिसाब लगाएं) होंगे। अगर आपको बोनस या वेतनवृद्धि मिलती है तो आप कुछ ब्लूचिप कंपिनयों में निवेश कर सकते हैं। इस बुनियादी नियम का पालन करिए। पंद्रह साल में आपके पास बड़ी रकम होगी।
मेरा ख्याल है कि सेक्शन 80सी में निवेश करके आप टैक्स बचाना चाहते हैं लेकिन इससे आपको शिक्षा और विवाह जैसी जिम्मेदारियों को पूरा करने में भी मदद मिलेगी।


इस बारे में अपनी राय दीजिए
पोस्ट करनेवाले: MMB Messengerपर: 17:42, अगस्त 22, 2014

निवेश

सोना निवेश के लिहाज से हमेशा ही आकर्षक रहा ह...

पोस्ट करनेवाले: vinoddeswalपर: 15:02, अगस्त 13, 2014

निवेश

sir, i` m getting Rs 32,000 in hand salary and i did 3 RD`s of sum Rs 14,000 per month and a fixed deposit of Rs 50...