इंश्योरेंस की दिक्कतों से छुटकारा - Moneycontrol
Moneycontrol » समाचार » बीमा

इंश्योरेंस की दिक्कतों से छुटकारा

प्रकाशित Sat, फ़रवरी 18, 2012 पर 08:09  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

माय इंश्योरेंस क्लब डॉटकॉम के उप-संस्थापक मनोज असवानी बता रहें है कैसे पाएं इंश्योरेंस की परेशानियों से छुटकारा।


सवाल: बिड़ला सनलाइफ ड्रीमप्लान यह यूलिप प्लान है या टर्म प्लान, क्योंकि दिए पॉलिसी के डॉक्युमेंट में दोनों का ही ज्रिक किया गया है?


मनोज असवानी: बिड़ला सनलाइफ ड्रीमप्लान यह एक यूलिप प्लान है। साथ ही यह गारंटीड रिटर्न प्लान है। वहीं इसमें कवर बढ़ने के लिए टर्म प्लान भी जोड़ा गया है। हालांकि यह टर्म प्लान राइडर के तौर पर होता है।


सवाल: मैंने मैक्स न्यूयॉर्क लाइफ मेकर प्लान लिया है जिसका सालाना प्रीमियम 24,000 रुपये है। वहीं अब चक 96,000 रुपये भर चुका हूं। लेकिन प्लान की मौजूदा वैल्यु 89,000 रुपये ही है। क्या प्लान से निकलना सही रहेगा?


मनोज असवानी: मैक्स न्यूयॉर्क लाइफ मेकर प्लान यह एक यूलिप प्लान है। जिसमें शुरुआती 4 साल तक काफी ज्यादा चार्जेस लगते हैं। वहीं यूलिप प्लान में बाजार के उतार-चढ़ाव की भी बड़ी भूमिका होती है। ऐसे में 96,000 रुपये तक प्रीमियम भरने के बाद प्लान से निकलना सही फैसला नहीं होगा। वहीं प्लान से निकलते हैं तो यह जरूर देखें कि प्लान जिस उद्देशय से लिया गया है वह पूरा हुआ है या नहीं।


सवाल: निजी इंश्योरेंस कंपनियों के प्लान सस्ते क्यों होते हैं। क्या इन कंपनियों के इंश्योरेंस प्लान में क्लेम मिलने में दिक्कत आती है?


मनोज असवानी: भारत में सभी इंश्योरेंस कंपनियों को आईआरडीए रेगुलेट करता है। हर इंश्योरेंस कंपनी को अपनी क्लेम सर्विस रिपोर्ट आईआरडीए को देनी होती है। ऐसे में कोई भी निजी इंश्योरेंस कंपनी को इंश्योरेंस प्लान में क्लेम मिलने में कोई दिक्कत नहीं आती है। प्लान खरीदते समय अपनी संपूर्ण जानकारी सही देनी चाहिए।


वीडियो देखें


इस बारे में अपनी राय दीजिए
पोस्ट करनेवाले: ComodityScalperपर: 00:16, अप्रैल 30, 2015

Insurance Help

Out of that count 95% as insurance agents, where there is no substantial CTC companies has to/ need to bear on fixe...

पोस्ट करनेवाले: pcspuneपर: 14:59, अप्रैल 28, 2015

Insurance Help

Dear tharish2015, Surrender Bima Bachar account without delay even if you have to suffer huge LOSS....