Moneycontrol » समाचार » निवेश

करना है बचत तो खर्चों पर लगाएं लगाम

प्रकाशित Sat, 25, 2012 पर 12:11  |  स्रोत : Moneycontrol.com

हर व्यक्ति के जीवन में नियम की स्थान सबसे ऊंचा है। किसी कार्य में सही तौर-तरीके और बिना नियम के व्यक्ति सफल नहीं हो सकता है। व्यक्ति को पूंजी संचय में यही पद्धति अपनानी चाहिए। वहीं अपने पैसों का इस्तेमाल करने का सही तरीका यह है कि व्यक्ति अपने खर्चों का प्रबंधन किस तरह है। सही तरीके से किया गया खर्च व्यक्ति की जिम्मेदारियों को कम करने के साथ-साथ बचत का तरीका भी सिखाता है।


खर्च की नीति तैयार करें-


अपनी में कमाई में बचत को बढ़ावा देने के लिए यह बेहद जरूरी है कि व्यक्ति अपने खर्च का लेखा-जोखा करते है। साथ ही खर्च पर नियंत्रण रखे। इसके लिए जरूरी है कि प्रत्येक महीने अपने खर्च की समीक्षा करना चाहिए। सात ही गैर-जरूरी खर्च को नजरअंदाज करना चाहिए। खर्चों में कटौती और इसके लेखा-जोखा के लिए एक मासिक बजट तैयार करें, फिर उस बजट के दायरे में रहकर खर्च करें। इससे यह जानने में आसानी हो जाएगी कि पैसा कहां और कितना खर्च हो रहा है और इसपर किस तरह नियंत्रण किया जा सकता है।


कर्ज के बोझ को हल्का करें-


कर्ज इंसान के सुख-चैन का सबसे बड़ा दुश्मन है। निवेश की प्रक्रिया शुरू करने से पहले कोशिश करें कि अपना पूरा कर्ज चुकता लें। उन कर्जों का भुगतान सबसे पहले करें जिसमें अधिक ब्याज चुकाना पड़ रहा है। वहीं क्रेडिट कार्ड का भुगतान जल्दी कर देना चाहिए, क्योंकि इसमें भुगतान में देरी होने पर उच्च दर से ब्याज भी देना पड़ता है।


नियम से करें खर्च


व्यक्ति को अपने खर्चों पर नियंत्रण रखना चाहिए। गैर-जिम्मेदारी के किए गए खर्च से बजट की गाड़ी डगमगाने लगती है। खर्चों पर नियंत्रण बचत और निवेश में काफी मदद करता है। साथ ही इस नीति को अपना तरह व्यक्ति अपने वित्तीय लक्ष्यों की पूर्ति समय पर कर सकता है। वहीं अक्सर देखा गया है कि व्यक्ति निवेश करके धन संचय का लक्ष्य तो तैयार करता है लेकिन खर्चों पर नियंत्रण नहीं होने की वजह से उसका लक्ष्य समय से पूरा नहीं हो पाता है। इसलिए ध्यान रखें खर्चों पर नियंत्रण रखें और नियमित निवेश करते रहे ताकि भविष्य में वर्तमान में आपके द्वारा की कमाई का चैन और शुकून दे सके।


नोट: यह लेख पॉलिसीबाजार डॉटकॉम से सहभार लिया गया है।