Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स से जुड़ी उलझनों पर टैक्स गुरू के सुझाव

प्रकाशित Sat, 07, 2012 पर 12:39  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

टैक्स गुरू सुभाष लखोटिया जी से जानिए टैक्स की बारीकियां और टैक्स से जुड़ी उलझनों पर सुझाव -


सवाल : नए बजट में एचयूएफ के गिफ्ट प्रावधान में जो नए बदलाव आए हैं, क्या वो करदाताओं के लिए फायदेमंद होगा और अगर एचयूएफ के किसी मेंबर की या कर्ता की मृत्यू हो जाती है तो एचयूएफ का स्टेट्स क्या होगा? 


सुभाष लखोटिया : सेक्शन 56 के तहत एचयूएफ को गिफ्ट देने के नियम में किया गया बदलाव करदाताओं के लिए फायदेमंद होगा। एचयूएफ को गिफ्ट देने का नियम 1 अक्टूबर 2009 से लागू होगा। सदस्य एचयूएफ को गिफ्ट देता है इसे रिश्तेदार से गिफ्ट माना जाएगा।

रिश्तेदार से मिले गिफ्ट पर कोई टैक्स नहीं लगेगा। अगर एचयूएफ के किसी एक मेंबर की या कर्ता की मृत्यू हो जाती है तब भी एचयूएफ बरकरार रहेगा।    

सवाल :
बजट में जो रेट्रोस्पेक्टिव संशोधन किए जाते हैं क्या कानून की नजर में टैक्स के मामले में मान्य है? 
  
सुभाष लखोटिया : इनकम टैक्स में रेट्रोस्पेक्टिव संशोधनों में बदलाव ठीक नहीं है। लेकिन इस साल बजट में कई रेट्रोस्पेक्टिव संशोधन हुए, जिसकी पूरी जानकारी फाइनेंस बिल में मिल सकती है।  


सवाल : शादीशुदा बेटी को पिता से मिली गिफ्ट से हुई इनकम क्या पति की इनकम से जुड़ेगी? क्या एनएससी पूरा होने पर मिलने वाले ब्याज पर टैक्स लगता है या नहीं? 


सुभाष लखोटिया : शादीशुदा बेटी को पिता से मिली गिफ्ट से हुई इनकम पति की आमदनी में नहीं जुड़ेगी। मैच्योरिटी पर एनएससी से मिलने वाले ब्याज पर टैक्स लगता है।


सवाल : मेरे पास एलआईसी पॉलिसी है जिसका प्रीमियम 27,000 रुपये के करीब है और सम एश्योर्ड 11 लाख रुपये है। अब तक 2 प्रीमियम भर चुका हूं। लेकिन नए बजट में प्रावधान है कि अगर प्रीमियम सम एश्योर्ड का 10 फीसदी नहीं है, तो सेक्शन 80सी के तहत टैक्स छूट का फायदा नहीं मिलेगा। क्या करें?
 
सुभाष लखोटिया : 1 अप्रैल 2012 से नई पॉलिसी के लिए प्रीमियम सम एश्योर्ड का 10 फीसदी हो सकता है। पुरानी पॉलिसी के लिए अभी नए नियम लागू नहीं होगा।   


सवाल : दुकान से करीब 60,000 रुपये की आमदनी मिलती है और शेयर से करीब 10,000 रुपये का शॉर्ट टर्म प्रॉफिट मिला है। क्या रिटर्न भरना होगा और किस फॉर्म में भरें?


सुभाष लखोटिया : अगर इनकम, टैक्स छूट की सीमा से कम है तो आपको रिटर्न भरना जरूरी नहीं होगा।
  
सवाल : 50 लाख या उससे ज्यादा की प्रॉपर्टी पर टीडीएस नियम कब से लागू होगा? 3 लाख रुपये में जमीन खरीदी और स्टैम्प पेपर पर 5,000 रुपये खर्च किए। तो टैक्स में कुल कितनी छूट मिलेगी?


सुभाष लखोटिया : 1 अक्टूबर 2012 से प्रॉपर्टी खरीदने-बेचने पर 1 फीसदी टीडीएस का नियम 50 लाख से ज्यादा की सभी प्रॉपर्टी पर लागू होगा। सिर्फ जमीन खरीद पर टैक्स में कोई छूट नहीं मिलेगी। अगर आप रेसिडेंशियल प्रॉपर्टी खरीदते तो आपको टैक्स छूट मिल सकता है।


1 अपैल 2012 से ब्याज दरें बढ़ गई है। पीपीएफ में 8.8 फीसदी और सीनियर सिटीजन के लिए 9.3 फीसदी ब्याज मिल सकता है। पोस्ट ऑफिस एमआईएस पर 8.5 फीसदी और पोस्ट ऑफिस के 5 साल के रेकरिंग अकाउंट पर 8.4 फीसदी ब्याज मिल सकता है।     


वीडियो देखें