Moneycontrol » समाचार » बीमा

मेडिक्लेम पॉलिसी लेते वक्त ध्यान रखने योग्य बातें

प्रकाशित Sat, 21, 2012 पर 10:20  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

पॉलिसीबाजार डॉट कॉम के चीफ मार्केटिंग ऑफिसर अक्षय मेहरोत्रा बता रहे हैं कौन सी इंश्योरेंस पॉलिसी लेना रहेगा बेहतर, ताकि जरूरत के समय यह पॉलिसी मददगार साबित हो सके।


सवाल: मेरी उम्र 29 साल है और मैं खुद का व्यवसाय करता हूं, एक मेडिक्लेम पॉलिसी खरीदना चाहता हूं। पॉलिसी लेते समय कौन-कौन सी बातें ध्यान रखना चाहिए?


अक्षय मेहरोत्रा: खुद का व्यवसाय करते हैं और उम्र 29 साल है तो फिलहाल 3-5 लाख रुपये तक के कवर वाली पॉलिसी लेना चाहिए। वहीं पॉलिसी लेते समय यह जरूर देखें कि उसमें क्या-क्या चीजे कवर हो रही हैं। साथ बड़ी बीमारियों के लिए कितना वेटिंग पीरियड पॉलिसी में बताया गया है इसका भी ध्यान अवश्य रखें। इसके अलावा मैटरनिटी कवरेज, आजीवन कवरेज और नो क्लेम बोनस जैसे विकल्पों का भी ख्याल रखना चाहिए।


सवाल: मैंने नवंबर 2008 में पत्नी के नाम से 1 इंश्योरेंस पॉलिसी ली है। पॉलिसी के 2 प्रीमियम भरने के बाद अब प्रीमियम भरना बंद कर दिया है। क्योंकि रिटर्न काफी कम दिखाई दे रहे हैं, वहीं अब पॉलिसी सरेंडर करना चाहता हूं, क्या करूं?


अक्षय मेहरोत्रा: किसी भी इंश्योरेंस पॉलिसी में लंबी अवधि का नजरिया होना बेहद जरूरी है। शुरुआती 3 साल में पॉलिसी में काफी चार्ज होते हैं जिसकी वजह से पॉलिसी की वैल्यु काफी कम दिखाई देती है। लेकिन 3 साल बाद पॉलिसी बढ़िया रिटर्न देती है, वहीं केवल 2 प्रीमियम भरकर सरेंडर करने का फैसवा करना गलत होगा। कम से कम 3 प्रीमियम भरें उसके बाद पॉलिसी सरेंडर का निर्णय लेना उचित रहेगा।


सवाल: पर्सनल एक्सिडेंशियल इंश्योरेंस पॉलिसी में किस तरह के मामलों में कवर मिलता है। क्या किसी भी तरह से दुर्घटना होने पर पॉलिसी कवर देती है?


अक्षय मेहरोत्रा: पर्सनल एक्सिडेंशियल पॉलिसी में कुछ मामलों को छोड़कर लगभग सभी मामलों में कवर मिलता है। लेकिन गृहयुद्ध, नशे में खुद को नुकसान पहुंचना और जानबूझकर घटना को अंजाम देने जैसी परिस्थितियों में कवर नहीं मिलता है।


वीडियो देखें