Moneycontrol » समाचार » टैक्स

जानिए टैक्स से जुड़ी उलझनों पर सुझाव

प्रकाशित Tue, 24, 2012 पर 18:07  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

रिटर्न भरने की आखिरी तारिख करीब आ गई है ऐसे में छोटी बड़ी बाते आपको परेशान कर रही होगी और आपके मन में कई सवाल उठ रहे होंगे और इन्हीं सभी सवालों पर हल बताएंगे टैक्स गुरु सुभाष लखोटिया जी से।


सवाल : आईटीआर1(सहज फॉर्म) किसके लिए है और किन-किन को भरना है? 


सुभाष लखोटिया : ये फॉर्म सिर्फ वहीं करदाता भर सकते हैं जिनकी इनकम सैलरी या पेंशन से आती है और साथ ही जो एक प्रॉपर्टी के मालिक है। इसके अलावा जिनकी आय अन्य स्रोतों से भी है।


सहज रिटर्न फॉर्म लाल और काले रंग का है। अगर गर्वमेंट के वेबसाइट से सहज रिटर्न फॉर्म का प्रिंट आउट लेना है तो ए4 साईज के पेपर पर ही कलर प्रिंट आउट लेना पड़ेगा। काला-सफेद फॉर्म मान्य नहीं होगा। ये फॉर्म अंग्रेजी और हिंदी दोनों भाषाओं में भरा जा सकता हैं। सहज फॉर्म में बैंक अकाउंट की जानकारी देना जरूरी है। नए फॉर्म में एआईआए की जानकारी देने की जरूरत नहीं है।


सवाल : आईटीआर1(सहज फॉर्म) किन परिस्थियों में नहीं भरना है? 


सुभाष लखोटिया : लिस्टेड सिक्योरिटीज के अलावा दूसरे स्त्रोत से कैपिटल गेन होने पर सहज फॉर्म नहीं भरना है। इसके अलावा कृषि से सालाना 5,000 रुपये से ज्यादा इनकम होने के बावजूद भी सहज फॉर्म नहीं भरना है। जिनको लॉटरी, रेसिंग आदि से इनकम हुई है उन व्यक्तियों को ये सहज फॉर्म नहीं भरना है। साथ ही ऐसे व्यक्ति जिनकी विदेश में संपत्ती या अकाउंट है वो भी ये फॉर्म ना भरें।  
 
सवाल : आईटीआर1(सहज फॉर्म) कैसे भरें? 
 
सुभाष लखोटिया : आईटीआर1 (सहज रिटर्न फॉर्म) के पार्ट ए-18 में करदाताओं को टैक्स रिफंड या टैक्स देनदारी की जानकारी देनी है। वहीं ए-19 में आपकी नागरिकता भरनी है। अगर आप रिवाइज रिटर्न भर रहे है, तो ए-21 में निशान लगाएं। पार्ट बी में आपको इनकम का ब्यौरा देना है।  



वीडियो देखें