बेहतर भविष्य के लिए जरूरी है फाइनेंशियल प्लानिंग -
Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

बेहतर भविष्य के लिए जरूरी है फाइनेंशियल प्लानिंग

प्रकाशित Sat, 11, 2012 पर 11:47  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

लैडरअप वैल्थ मैनेजमेंट के एमडी राघवेंद्र नाथ बता रहे हैं कि कैसे करें फाइनेंशियल प्लानिंग ताकि भविष्य में पड़ने वाली वित्तीय जरूरतों को आसानी से पूरा किया जा सके।


सवाल: मेरी उम्र 31 साल और मासिक आय 76,000 रुपये है। एचडीएफसी टॉप 200 में 3,000 रुपये और फ्रैकलिन फ्लैक्सी कैप में 3,000 रुपये प्रति महीने की एसआईपी कर रहा हूं। एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस का यूलिप प्लान है, जिसा सालना प्रीमियम 12,000 रुपये है। साथ ही एसबीआई लाइफ टर्म प्लान में 4,080 रुपये का प्रीमियम दे रहा हूं, कवर 15 लाख रुपये है। वहीं एगॉन रेलीगेयर का भी टर्म प्लान है, जिसमें 4,300 रुपये प्रीमियम देता हूं। पीपीएफ में 3 लाख रुपये है और हर महीने 21,460 रुपये होम लोन की किस्त देता हूं, जबकि कार लोन की ईएमआई 7,820 रुपये है। साल 2030 से 40 लाख रुपये बेटी की पढ़ाई और 2040 में 1 करोड़ रुपये खुद के रिटायरमेंट के लिए जुटाने हैं, किस तरह निवेश की नीति बनाऊं?


राघवेंद्र नाथ: यह काफी सराहनीय है कि आप 31 साल की उम्र से ही निवेश की रणनीति तैयार कर रहे हैं। आपके द्वारा दोनों टर्म प्लान बेहतर है और कवर भी पर्याप्त है। लेकिन भविष्य के लक्ष्यों में महंगाई दर जोड़ना भी बेहद जरूरी है। ऐसे में 2030 में बेटी की पढ़ाई के लिए 40 लाख रुपये के बजाय 80 लाख रुपये लगेंगे और रिटायरमेंट के 1 करोड़ रुपये के बदले 3 करोड़ रुपयों की जरूरत होगी। लक्ष्यों को हासिल करने के लिए 12,000 रुपये प्रति महीने की एसआईपी करें और हर साल निवेश की रकम को 10 फीसदी से बढ़ाते जाएं।


सवाल: मेरी उम्र 34 साल, मासिक आय 25,000 रुपये है। मैं एसबीआई गोल्ड फंड, एचडीएफसी टॉप 200 और यूटीआई यूलिप में 2,000 रुपये प्रति महीने की एसआईपी कर रहा हूं। साथ ही एलआईसी की पॉलिसी में 10,000 रुपये सालाना प्रीमियम भी भर रहा हूं। 2 बेटों की पढ़ाई के लिए लंबी अवधि में 60 लाख रुपये जुटाना चाहता हूं और अगले 8 साल में घर खरीदने के लिए 25 लाख रुपये की जरूरत है। क्या लक्ष्य हासिल करने के लिए मौजूदा निवेश काफी है?


राघवेंद्र नाथ: दो बच्चों की पढ़ाई पर 60 लाख रुपये के लक्ष्य को बढ़ाकर 80 लाख रुपये कर दीजिए, क्योंकि महंगाई दर के मुताबिक उस समय इतनी रकम की जरूरत होगी। एलआईसी की पॉलिसी बंद करके 40-50 लाख रुपये के कवर वाला टर्म प्लान लें, ताकि यदि आपको कुछ हो जाता है तो बच्चों का भविष्य सुरक्षित रहे। वहीं एसबीआई गोल्ड फंड और यूटीआई यूलिप से निकल जाएं, एचडीएफसी टॉप 200 में निवेश जारी रखें। निवेश की रकम को इक्विटी-एफडी में 70:30 के अनुपात में निवेश करें। इसके अलावा आरडी जैसे विकल्पों को भी चुन सकते हैं।


सवाल: मेरी महीने की आय 50,000 रुपये और प्रति माह घर खर्च 7,000 रुपये है। होमलोन की ईएमआई 12,200 रुपये, जबकि हर महीने की बचत 30,800 रुपये है। इमरजेंसी फंड के तौर पर 1 लाख रुपये जमा किए हैं। बेटी की पढ़ाई और रिटारयमेंट के लक्ष्य के साथ निवेश करना चाहता हूं, किस तरह निवेश की नीति बनाऊं?


राघवेंद्र नाथ: होमलोन की ईएमआई हर महीने 5,000 रुपये बढ़ाकर जल्दी खत्म कर दें। बेटी की उच्च शिक्षा के लिए के लिए लंबी अवधि में 80-90 लाख रुपये की जरूरत होगी, जबकि घर खर्च को देखते हुए रियाटरमेंट के लिए 1.5 करोड़ रुपये की जरूरत पड़ेगी। दोनों की लक्ष्यों को हासिल करने की के लिए करीब 12,000 रुपये प्रति महीने एसआईपी करें। साथ हर साल निवेश की रकम को 10-15 फीसदी बढ़ाने से लक्ष्य हासिल करने में आसानी होगी।


वीडियो देखें