Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

कैसे हो संपूर्ण फाइनेंशियल प्लानिंग

प्रकाशित Sat, 08, 2012 पर 14:19  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

लैडरअप वैल्थ मैनेजमेंट के एमडी राघवेंद्र नाथ का कहना है कि एक फाइनेंशियल प्लानिंग तभी संपूर्ण होती है जब उसमें सभी जरूरतों का पूरा ध्यान रखा गया हो और भविष्य में आने वाली आवश्यकताओं की भी प्लानिंग की गई हो। राघवेंद्र नाथ ने फाइनेंशियल प्लानिंग से जुड़ी राय दी जो आपके भी काम आ सकती है।


संपूर्ण फाइनेंशियल प्लानिंग के लिए अहम 5 बातें


अपने लक्ष्यों और सपनों को लिख कर रखें और तय करें कि आप किन जरूरतों के लिए कितना पैसा चाहते हैं।


हमेशा जल्दी से निवेश करने की शुरुआत करें। जीवन के प्रारंभिक सालों में आपकी जोखिम उठाने की क्षमता ज्यादा होती है। जितना जल्दी आप बचाना और निवेश करना शुरू करेंगे उतनी ही आपकी फाइनेंशियल प्लानिंग मजबूत होगी।


लक्ष्य बनाने के बाद एसेट एलोकेशन को तय करें। अपनी आय और जोखिम उठाने की क्षमता के आधार पर तय करे कि आप डेट, इक्विटी या रियल एस्टेट में से कहां निवेश करना चाहते हैं।


एक बार निवेश शुरू करने के बाद बीच में निवेश की रणनीति को तोड़े ना। अनुशासित तरीके से लगातार निवेश करें।


सवालः 10 साल में 15 लाख रुपये बेटी की पढ़ाई के लिए चाहिए। 15 साल में 25 लाख रुपये बेटी की शादी के लिए चाहिए। 20 साल में 20 लाख रुपये बेटे की पढ़ाई के लिए चाहिए।


राघवेंद्र नाथः आपके पीएफ का पैसा रिटायरमेंट तक ही 2 करोड़ रुपये हो जाएगा। आप इक्विटी फंड में 6000-6500 रुपये की एसआईपी करना शुरू कर दें। इसके लिए एसबीआई इमर्जिंग बिजनेस फंड, आईसीआईसीआई डायनेमिक फंड, आईडीएफसी प्रीमियर इक्विटी में निवेश किया जा सकता है। पढ़ाई के लिए पैसे जुटाने के लिए किसी इक्विटी एमएफ में 3000 रुपये की एसआईपी करनी होगी। शादी के लिए 25 लाख जुटाने के लिए हर महीने 3000 रुपये की एसआईपी करनी होगी।


वीडियो देखें