Moneycontrol » समाचार » बीमा

जरूरत के मुताबिक लें हेल्थ पॉलिसी

प्रकाशित Thu, 20, 2012 पर 15:51  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

अपना पैसा डॉटकॉम के सीईओ हर्ष रूंगटा के मुताबिक जरूरत के मुताबिक ही हैल्थ पॉलिसी लेनी चाहिए। सिर्फ टैक्स बचाने के लिए हैल्थ पॉलिसी की भरमार ना करें। हैल्थ पॉलिसी आपके और परिवार की स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए होती है। 


सवालः इस साल अपोलो ईजी हैल्थ फैमिली फ्लोटर को पॉलिसी को अपोलो ऑप्टिमा रीस्टोर फैमिली फ्लोटर में शिफ्ट किया है। प्रपोजल फॉर्म में कई जानकारी पुरानी इंश्योरेंस कंपनी ने नई इंश्योरेंस कंपनी को नहीं दी है। मैनें नई पॉलिसी ई-मेल के जरिए ली है। क्या नई कंपनी से अपडेट की जानकारी मांगनी चाहिए?


हर्ष रूंगटाः आपने पॉलिसी शिफ्ट की है और अगर कंपनी ने नई पॉलिसी लेते वक्त पुरानी पॉलिसी की जानकारी दी है तो चिंता की कोई बात नहीं है। अगर कंपनी ने नई पॉलिसी इश्यू कर दी है तो चिंता ना करें। हालांकि जिस ई-मेल के जरिए जानकारी दी गई है उसे संभालकर जरूर रखें।


सवालः दो टर्म प्लान हैं एक एलआईसी की पॉलिसी है जिसका कवर 25 लाख रुपये है और एचडीएफसी क्लिक टू प्रोटेक्ट है जिसका कवर 50 लाख रुपये है। मैं टर्म प्लान का कवर 50 लाख रुपये और बढ़ाना चाहता हूं। क्या नई पॉ़लिसी लूं या पुरानी सरेंडर करके दूसरी पॉलिसी ले लूं?


हर्ष रूंगटा: आप ऑनलाइन टर्म प्लान ले सकते हैं। आप पुरानी पॉलिसी को सरेंडर कर दें और 1.25 करोड़ कवर के लिए एक नई पॉलिसी ले लें। 3 पॉलिसी एक साथ रखने पर उनका प्रीमियम काफी ज्यादा होगा। जब आप की 1 पॉलिसी एक्सपायर हो रही हो उससे 1 या 1.5 महीने पहले नई ऑनलाइन पॉलिसी के लिए आवेदन कर दें। 


सवालः अपोलो ऑप्टिमा रीस्टोर फैमिली फ्लोटर खरीदा है। क्या हैल्थ पॉलिसी में रिन्यूएल के समय कवर बढ़ा सकते हैं और टॉप अप और सुपर टॉप इंश्योरेंस क्या होता है?


हर्ष रूंगटाः अपोलो ऑप्टिमा रीस्टोर फैमिली का टॉप अप प्लान अपने परिवार के लिए खरीदें। इसके साथ अपोलो की ऑप्टिमा प्लस पॉलिसी लें जो एक टॉप अप पॉलिसी है इसे खरीदे लें। अगर हॉस्पिटल का खर्चा 6 लाख रुपये तक होता है तो 5 लाख रुपये अपोलो ऑप्टिमा रीस्टोर फैमिली से मिल सकते हैं और 1 लाख रुपये अपोलो ऑप्टिमा प्लस पॉलिसी टॉप अप के जरिए मिल सकते हैं। टॉप अप आपकी हैल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी को सप्लीमेंट करता है। जब आपके बेसिक मेडिकल कवर की सीमा खत्म हो जाती है तो टॉप अप कवर काम आता है। सुपर टॉप अप में 2 बार अस्पताल गए और दोनों बार 2 लाख रुपये का बिल आया तो तीसरी बार सुपर टॉप अप से क्लेम मिल सकता है। मैक्स बूपा की सुपर टॉप अप पॉलिसी ले सकते हैं। आप एक कंपनी का टॉप अप ले सकते हैं और दूसरी कंपनी का सुपर टॉप अप प्लान ले सकते हैं।


सवालः अगर छोटी मोटी बीमारियों के लिए क्लेम ना लूं तो क्या हेल्थ पॉलिसी में रिन्यूअल के वक्त बताना होगा?


हर्ष रूंगटाः अगर आपने बीमारी के लिए क्लेम नहीं लिया है तो इंश्योरेंस कंपनी को बताना जरूरी नहीं है। अगर आप पॉलिसी बदल रहे हैं या सम एश्योर्ड बढ़ा रहे हैं तो क्लेम नहीं लेने की जानकारी कंपनी को दें।


सवालः एलआईसी जीवन आनंद को बंद करके 1 करोड़ रुपये का टर्म प्लान लेना चाहता हूं। इसे सरेंडर करके कितना पैसा वापस मिलेगा? क्या इसे सरेंडर करके टर्म प्लान लिया जा सकता है?


हर्ष रूंगटाः एलआईसी जीवन आनंद एक ट्रेडिशनल प्लान है और इसमें 5-6 फीसदी से ज्यादा रिटर्न नहीं मिलता है। सरेंडर वैल्यू के आधार पर प्लान की समीक्षा करें। पॉलिसी का आईआरआर पता करें, अगर आईआरआर 8 फीसदी से ज्यादा हो तो पॉलिसी सरेंडर ना करें। नई पॉलिसी लेते वक्त पुरानी पॉलिसी की पूरी जानकारी अवश्य दें। 1 करोड़ रुपये का टर्मप्लान ऑनलाइन लेने का फैसला सही है। आप कोटक ई-टर्म या भारती एक्सा ई प्रोटेक्ट ले सकते हैं जिसका प्रीमियम करीब 8000 रुपये सालाना हो सकता है।


वीडियो देखें